AMU के मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की किल्लत, प्रिंसिपल बोले- पिछले चार दिनों से एक भी सिलेंडर नहीं मिला

अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) स्थित जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मरीजों को दी जाने वाली ऑक्सीजन की किल्लत पैदा हो रही है. मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर शाहिद अली सिद्दीकी ने बताया कि अस्पताल को पिछले चार दिनों से एक भी ऑक्सीजन सिलिंडर नहीं मिला है और अब हम अपने लिक्विड ऑक्सीजन उत्पादन के तीन संयंत्रों पर पूरी तरह निर्भर हैं. उनमें से दो में ऑक्सीजन बनाने के लिए कच्चे माल की आपूर्ति का इंतजार है.

सिद्दीकी ने बताया कि जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 273 मरीज भर्ती हैं. उनमें से 63 कोविड-19 संक्रमित हैं और 140 में इस संक्रमण के लक्षण मौजूद हैं. बाकी बचे 70 मरीज नॉन कोविड मरीज भी गंभीर हालत में भर्ती हैं और उन्हें भी आवश्यकतानसार ऑक्सीजन दी जा रही है. उन्होंने बताया “ट्रॉमा सेंटर में स्थित हमारे दो लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट में बस कुछ घंटों की आपूर्ति लायक ऑक्सीजन है. हम उम्मीद करते हैं आज हमें कच्चे माल की आपूर्ति हो जाएगी, जिसके बाद दो प्लांट में ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू हो जाएगा.” सिद्दीकी ने बताया कि तीसरा ऑक्सीजन प्लांट विश्वविद्यालय के पुराने भवन में स्थित है जहां चौबीसों घंटे ऑक्सीजन का उत्पादन किया जा रहा है.

AMU 30 दिन में एक नया ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित करेगा- कुलपति

इस बीच, एएमयू के कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने बुधवार को कहा कि विश्वविद्यालय अगले 30 दिन में एक नया ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित करेगा. यह नया प्लांट ऑक्सीजन सिलिंडर को रिफिल करने का काम भी करेगा.

इधर, अलीगढ़ के सांसद सतीश गौतम ने बताया कि उनकी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से टेलीफोन पर बात हुई है और उन्होंने आश्वासन दिया है कि बोकारो से ऑक्सीजन लदे ट्रक रवाना हो चुके हैं जिनसे अलीगढ़, मथुरा और आगरा में ऑक्सीजन की जरूरतों को पूरा किया जाएगा. सांसद ने कहा कि मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है कि ऑक्सीजन की किल्लत को जल्द खत्म कर दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें-

शर्मसार हुई मानवता, नहीं मिला किसी का साथ तो पत्नी का शव साइकिल पर रखकर दाह संस्कार के लिये निकल पड़ा

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*