छोटी बचत से भविष्य करें सुरक्षित, इन सरकारी योजनाओं में 100 से 500 रुपये में खुलता है खाता

मुश्किल वक्त किसी की भी जिंदगी में आ सकता है. ऐसे वक्त में आपकी बचत ही आपकी सबसे बड़ी साथी होती है. कोरोना संकट ने भी लोगों को बचत का महत्व समझाया है. बहुत से लोग समझते हैं कि बचत तब शुरू करेंगे जब बड़े निवेश के लायक हो जाएं लेकिन यह गलत सोच है. बचत थोड़े से पैसों के साथ भी शुरू की जा सकती है. ऐसी कई सरकारी योजनाएं हैं जिनमें केवल 100 से 500 रुपये के साथ निवेश की शुरुआत की जा सकती है.

पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट

डाक घर की रिकरिंग डिपॉजिट योजना की मेच्योरिटी 5 साल की है, लेकिन आवेदन देकर इसे 5-5 साल के लिए आगे भी बढ़वाया जा सकता है इस योजना में हर महीने न्यूनतम 100 रुपये जमा करना होता है. जमा 10 रुपये के गुणक में होना चाहिए. इसमें निवेश की अधिकतम सीमा नहीं होती है. इसमें मौजूदा समय में 5.8 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है. ब्याज दरों में तिमाही आधार पर बदलाव होता है.

इसमें सिंगल और ज्वाइंट दोनों अकाउंट की सुविधा है. 10 साल से ज्यादा उम्र के बच्चे के नाम भी खाता अभिभावक अपनी देख रेख में खोल सकते हैं. अकाउंट को एक डाक घर से दूसरे में ट्रांसफर किया जा सकता है. खाता खोलने की तारीख से 3 साल के बाद प्री-मैच्योर क्लोजर की सुविधा रहेगी.

पोस्ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट

डाक घर में 500 रुपये में बचत खाता खुल जाता है. एक पोस्‍ट ऑफिस में एक ही बचत खाता खुलवा सकते हैं. इस समय पोस्‍ट ऑफिस सेविंग्‍स अकाउंट पर सालाना ब्याज दर 4 फीसदी है. इसे सिंगल या ज्वॉइंट में, 10 साल से अधिक उम्र के नाबालिग बच्चे के नाम पर, दिमागी रूप से कमजोर व्यक्ति के लिए खुलवा सकते हैं.

डाकघर बचत खाते में भी मिनिमम मंथली बैलेंस मेंटेन करना होता है. मिनिमम बैलेंस 500 रुपये रखना तय है. मिनिमम बैलेंस न होने पर पर खाते से 100 रुपये की मेंटीनेंस फीस काट ली जाएगी. फीस काटने के बाद अगर खाते में बैलेंस निल हो गया तो यह अपने आप बंद हो जाएगा.

डाक घर बचत खाते पर चेक/एटीएम सुविधा, नॉमिनेशन सुविधा, अकाउंट एक पोस्‍ट ऑफिस से दूसरे में ट्रांसफर कराने की सुविधा, इंट्रा ऑपरेबल नेटबैंकिंग/मोबाइल बैंकिंग की सुविधा, पोस्‍ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट्स के बीच ऑनलाइन फंड ट्रांसफर की सुविधा मिलती है.

पोस्ट ऑफिस पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)

पोस्‍ट ऑफिस PPF अकाउंट को न्यूनतम 500 रुपये से शुरू किया जा सकता है. अकाउंट पर मौजूदा सालाना ब्याज दर 7.1 फीसदी है. अकाउंट में एक वित्त वर्ष में मिनिमम 500 रुपये और मैक्सिमम 1.5 लाख रुपये जमा करना जरूरी है.

खाते में मिनिमम सालाना अमाउंट डिपॉजिट न किया गया तो अकाउंट इनएक्टिव हो जाता है और फिर पिछला बकाया, 50 रुपये का चार्ज और एक इंस्टॉलमेंट भरने के बाद ही फिर से एक्टिव होता है. पोस्‍ट ऑफिस PPF का मैच्‍योरिटी पीरियड 15 साल है और इससे पहले क्‍लोजर नहीं किया जा सकता.

कुछ विशेष मामलों में 5 साल की अवधि पूरा होने के बाद जरूरत पड़ने पर इसे बंद कराया जा सकता है. इन विशेष परिस्थितियों में – 1. खाताधारक, उसके जीवनसाथी या निर्भर बच्चों को जानलेवा बीमारी होने पर, 2. PPF खाताधारक या निर्भर बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए, 3. खाताधारक के विदेश में बसने पर, शामिल है.

इसमें निवेश पर आने वाले ब्याज और मैच्योरिटी पर मिलने वाले अमाउंट तीनों को आयकर कानून के तहत टैक्स से छूट प्राप्त है.

सुकन्‍या समृद्धि योजना

सुकन्या समृद्धि खातो को मिनिमम 250 रुपये से शुरू कर सकते हैं. इसमें एक वित्त वर्ष में न्यूनतम जमा 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये तय की गई है.

अपनी बच्‍ची के फ्यूचर को सिक्योर करने के लिए इस योजना में माता-पिता अकाउंट खुलवा सकते हैं. माता-पिता 10 वर्ष तक की आयु की बच्ची के नाम पर खाता खोल सकते हैं. एक बच्ची के नाम पर एक ही खाता खुलेगा.

इस समय पोस्ट ऑफिस में सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट पर सालाना 7.6 फीसदी का ब्याज मिल रहा है. सुकन्या समृद्धि स्कीम में अधिकतम 15 साल तक निवेश किया जा सकता है.

सुकन्या समृद्धि अकाउंट को लड़की के 21 साल का होने के बाद ही बंद किया जा सकता है. हालांकि बच्‍ची के 18 साल की होने पर उसकी शादी होने पर नॉर्मल प्रीमैच्‍योर क्‍लोजर की अनुमति है.

खाते में जमा की जाने वाली रकम पर सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक का टैक्स डिडक्शन क्लेम किया जा सकता है. इसके अलावा जमा रकम पर आने वाला ब्याज और मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने पर मिलने वाला पैसा भी टैक्स फ्री है.

यह भी पढ़ें:

पेंशनभोगियों को मोदी सरकार ने दी बड़ी राहत, अब 28 फरवरी तक जमा करा सकेंगे जीवन प्रमाणपत्र

 

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*