ट्विटर अकाउंट सस्पेंड होने के बाद Kangana Ranaut ने Koo ज्वाइन किया , को-फाउंडर ने इस अंदाज में किया एक्ट्रेस का स्वागत

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत का ट्विटर अकाउंट स्थायी तौर पर स्थगित कर दिया गया है. नफरत फैलाने वाले बयान देने और ट्विटर के नियमों का उल्लंघन करने के लिए कंगना रनौत का अकाउंट मंगलवार को  सस्पेंड कर दिया गया. बाद में, माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ‘कू’ ने उनका स्वागत किया कहा कि उनका मानना सही था कि ‘मेड इन इंडिया’ प्लेटफॉर्म ‘घर’ की तरह है और बाकी सब तो किराए पर हैं. 

 ‘कू’ के को-फाउंडर अपरामेय राधाकृष्ण ने कंगना रनौत का 16 फरवरी 2021 का मैसेज शेयर करते हुए लिखा,”यह कंगना का पहला कू था. उन्होंने सही कहा था कि कू उनके घर की तरह है जबकि बाकी रेंटेड है.”कंगना रनौत ने अपने पहले कू में लिखा था कि ये नई जगह है और इसके साथ परिचय करने में वक्त लगेगा.

कंगना रनौत ने कहा था,”मगर भाड़े का घर भाड़े का होता है, अपना घर कैसा भी हो अपना होता है.” बता दें कि कू पर 4.48 लाख फॉलोवर्स हैं.  ‘कू’ के को-फाउंडर मयंक बिदावात्क ने भी कंगना रनौत का स्वागत किया और कहा कि वह अपने विचारों को इस प्लेटफॉर्म पर गर्व के साथ रख सकती हैं.

कंगना रनौत का अकाउंट सस्पेंड करने को लेकर ट्विटर ने मंगलवार को एक बयान में यह जानकारी दी. ट्विटर ने एक बयान में कहा, “ हम स्पष्ट रहे हैं कि हम उस व्यवहार पर कड़ी प्रवर्तन कार्रवाई करेंगे जिनसे ऑफलाइन नुकसान पहुंचने की आशंका है.”

ट्विटर की नीति का बार-बार उल्लंघन

प्रवक्ता ने बताया, “संदर्भित अकाउंट को ट्विटर के नियमों, खासकर, हमारे नफरती आचरण नीति और अपमानजनक नीति का बार-बार उल्लंघन करने के लिए स्थायी रूप से बंद कर दिया गया है.” उन्होंने कहा, “ हम सब पर विवेकपूर्ण तरीके से और निष्पक्ष रूप से ट्विटर नियमों को लागू करते हैं.”

ट्विटर की नीति

ट्विटर की अपमानजक नीति के मुताबिक, ‘‘व्यक्ति किसी को निशाना बनाकर प्रताड़ित नहीं करे या प्रताड़ित करने, धमकाने या इसकी कोशिश करने के लिए अन्य को भड़काए नहीं या अन्य की आवाज़ को खामोश नहीं कराए.”

ये भी पढ़ें-

ट्विटर के एक्शन पर भड़कीं Kangana Ranaut , सोशल मीडिया पर छिड़ा मीमवॉर

फैशन डिजाइनर आनंद भूषण ने Kangana Ranaut के साथ हुईं डील्स को तोड़ा, रंगोली चंदेल ने कहा- कोर्ट में मिलते हैं

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*