वेंटिलेटर मिलने में हुई देरी, एनएसजी के ग्रुप कमांडर की कोरोना संक्रमण से हुई मौत

<p style="text-align: justify;"><strong>नई दिल्लीः</strong> देश के संघीय आतंकवाद-निरोधक कमांडो बल नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी) के एक वरिष्ठ कमांडर की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हो गयी. एनएसजी में यह इस संक्रमण से पहली मौत है जिसे लेकर अधिकारियों ने वरिष्ठ कमांडर को विशिष्ट उपचार उपलब्ध कराने में देरी का आरोप लगाया है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>NSG के ग्रुप कमांडर बी के झा की कोरोना संक्रमण से मौत</strong></p>
<p style="text-align: justify;">अधिकारियों ने बताया कि ग्रुप कमांडर (समन्वय) बी के झा के कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद उन्हें ग्रेटर नोएडा के सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्सेज (सीएपीएफ) अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने कल सुबह अंतिम सांस ली. वह 53 साल के थे.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>वेंटिलेटर बेड मिलने में हुई देरी</strong></p>
<p style="text-align: justify;">अधिकारियों के अनुसार पिछली रात उनकी स्थिति बहुत तेजी से बिगड़ी और चूंकि सीएफपीएफ अस्पताल में वेंटिलेटर आईसीयू काम नहीं कर रहा था तो उन्हें बाईपेप प्रणाली पर रखा गया. उन्होंने बताया कि डॉक्टरों ने सुझाव दिया कि उन्हें आईसीयू बेड की जरूरत है और फिर किसी अन्य अस्पताल में आईसीयू बेड की तलाश शुरू की गई .</p>
<p style="text-align: justify;">एक एनएसजी अधिकारी ने कहा, &lsquo;&lsquo;काफी देर तक तलाश के बाद नोएडा के एक निजी अस्पताल में एक वेंटिलेटर बेड मिला लेकिन उन्हें ले जाने के लिए कार्डियक एंबुलेंस का इंतजाम करने में फिर देरी हो गयी. एनएसजी से कार्डियक एंबुलेंस पहुंची लेकिन इसी बीच उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हो गई.&rsquo;&rsquo;</p>
<p style="text-align: justify;">&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>इसे भी पढ़ेंः</strong><br /><a href="https://www.abplive.com/news/india/west-bengal-chief-minister-mamta-banerjee-has-to-take-stern-action-to-stop-violence-in-state-1910513"><strong>पश्चिम बंगाल: हिंसा रोकने के लिये भी ममता को दिखाना होगा ‘शेरनी’ का रूप</strong></a></p>
<p style="text-align: justify;">&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><a href="https://www.abplive.com/news/india/bjp-chief-jp-nadda-claims-more-than-80-thousand-to-one-lakh-leave-house-after-west-bengal-violence-1910501"><strong>जेपी नड्डा का दावा- बंगाल में TMC की जीत के बाद 80 हजार से 1 लाख लोग हमले के डर से घर छोड़कर भागे</strong></a><br /><br /></p>

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*