Ind vs Aus: बॉक्सिंग डे टेस्ट में रविंद्र जडेजा को मिल सकता है मौका, इस खिलाड़ी की होगी छुट्टी

Ind vs Aus: भारतीय टीम मैनेजमेंट बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा की चोट पर करीबी नजर रखे हुए है. जानकारी के मुताबिक, अगर जडेजा मैच फिट हो जाते हैं तो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 26 दिसंबर से शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट में उन्हें प्लेइंग इलेवन में जगह मिल सकती है.

बता दें कि पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय के दौरान जडेजा के सिर में चोट लगी थी और इसके बाद उनके पैर की मांसपेशियों में भी खिंचाव आ गया था. जिसके कारण वह पहले टेस्ट से बाहर हो गए थे. भारत को पहले टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा और इस दौरान जडेजा ने नेट पर वापसी की.

पता चला है कि यह आलराउंडर अच्छी तरह उबर रहा है लेकिन अभी यह निश्चित रूप से नहीं कहा जा सकता कि वह 26 दिसंबर से मेलबर्न में शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट के लिए शत प्रतिशत फिट हो जाएगा. लेकिन जडेजा फिट होते हैं जो आंध्र प्रदेश के बल्लेबाज हनुमा विहारी को अंतिम एकादश से बाहर होना पड़ सकता है. विहारी के बाहर होने का कारण एडीलेड में पहले टेस्ट में उनका खराब प्रदर्शन नहीं बल्कि अजिंक्य रहाणे और रवि शास्त्री द्वारा सर्वश्रेष्ठ संयोजन उतारा जाना है.

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के एक वरिष्ठ सूत्र ने कहा, ‘‘अगर जडेजा लंबे स्पेल फेंकने के लिए फिट हो जाता है तो फिर बहस का कोई बात ही नहीं है. जडेजा अपने आलराउंड कौशल के आधार पर विहारी की जगह लेगा. साथ ही इससे हमें एमसीजी में पांच गेंदबाजों के साथ उतरने का विकल्प मिलेगा.’’

जडेजा ने 49 टेस्ट में 35 से ज्यादा की औसत से 1869 रन बनाए हैं जिसमें एक शतक और 14 अर्धशतक शामिल हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के पिछले दौरों पर अर्धशतक जड़े थे. दूसरी तरफ विहारी ने 10 टेस्ट में 576 रन बनाए हैं जिसमें वेस्टइंडीज के खिलाफ शतक के अलावा चार अर्धशतक शामिल हैं. उन्होंने 33 से ज्यादा की औसत से रन बनाए हैं.

क्रिकेट के जानकारों का यह भी मानना है कि अगर बल्लेबाजी कौशल पर ध्यान दें तो भी ‘विशेषज्ञ विहारी’ और ‘आलराउंडर जडेजा’ में ज्यादा अंतर नहीं है.

वहीं मोहम्मद शमी कलाई में फ्रेक्चर के कारण पहले ही सीरीज से बाहर हो गए हैं और ऐसे में भारत चार की जगह पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतर सकता है. भारत को इस बीच सोमवार को एडीलेड ओवल में अभ्यास सत्र में हिस्सा लेना था, लेकिन बारिश के कारण इसे रद्द करना पड़ा.

कप्तान विराट कोहली को मंगलवार को भारत के लिए रवाना होगा है और टीम मेलबर्न के लिए रवाना होगी. कप्तान ने यहां दूसरी पारी में टीम के 36 रन पर सिमटने के बाद खिलाड़ियों के साथ बात की. सीनियर बल्लेबाज रोहित शर्मा सिडनी टेस्ट से पूर्व तीन जनवरी से ट्रेनिंग शुरू कर सकते हैं. वह अभी सिडनी में दो कमरे के अपार्टमेंट में पृथकवास से गुजर रहे हैं.

कोविड-19 मामलों में इजाफे के बाद न्यू साउथ वेल्स राज्य सरकार की पाबंदियों को देखते हुए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया डेविड वार्नर और सीन एबॉट को पहले ही सिडनी से मेलबर्न ला चुका है. हालांकि बीसीसीआई पृथकवास के बीच में रोहित को मेलबर्न नहीं ला सकता है.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को अब भी तीसरे टेस्ट की मेजबानी सात जनवरी से सिडनी में करने की उम्मीद है और अगर ऐसा होता है तो रोहित को मेलबर्न लाने की जरूरत नहीं होगी. क्योंकि वैसे भी यह सीनियर बल्लेबाज दूसरे टेस्ट में नहीं खेल पाएगा. अगर स्थिति बदलती है और तीसरे टेस्ट को स्थानांतरित किया जाता है तो बीसीसीआई क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के साथ चर्चा करके जरूरी कदम उठाएगा.

यह भी पढ़ें- 

Boxing day test: जानिए क्या है ‘बॉक्सिंग डे टेस्ट’ का इतिहास और कैसे क्रिकेट से जुड़ा ये नाम

‘मिस्टर क्रिकेट’ ने बताया- ऑस्ट्रेलिया में भारतीय बल्लेबाज़ों से क्यों नहीं बन रहे हैं रन

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*