New Coronavirus Strain: जानिए क्या कोरोना के नए स्ट्रेन के खिलाफ भी प्रभावी होगी वैक्सीन?

New Coronavirus Strain: ब्रिटेन समेत कई देशों में जानलेवा कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से हड़कंप मचा हुआ है. कोई इसे खतरनाक बता रहा है तो कोई इसे कोरोना जितना ही सामान्य बता रहा है. कोरोना के इस नए स्ट्रेन के सामने आने के बाद हर किसी के मन में सवाल है कि क्या कोरोना वैक्सीन नए स्ट्रेन के खिलाफ भी प्रभावी होगी? अब इस सवाल का जवाब वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) ने दिया है.

तेजी से फैलता है ये वायरस, लेकिन घातक नहीं

सीएसआईआर के महानिदेशक शेखर मांडे ने कहा है कि कोरोना वायरस का टीका वायरस के बदले स्वरूप के खिलाफ भी उतना ही कारगर होगा और घबराने की कोई वजह नहीं है. उन्होंने कहा कि वायरस के नए प्रकार एन 501 वाई तुलनात्मक रूप से ‘‘तेजी से फैलता’’ है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि यह ज्यादा घातक है और लोगों की यह जान ले लेगा.

सीएसआईआर के महानिदेशक ने कहा, ‘‘ऐसी संभावना है कि एंटीबॉडीज जैसे कुछ पहलुओं पर अंतर होगा लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि टीका निष्प्रभावी हो जाएगा. वायरस के स्वरूप में बदलाव के बावजूद टीका समान रूप से प्रभावी होगा. इसलिए घबराने का कोई कारण नहीं है.’’

भारत में अब तक नए स्ट्रोन का कोई मामला नहीं

मांडे ने कहा, ‘‘भारत में अब तक यह (वायरस का बदला स्वरूप) नहीं मिला है.’’ उन्होंने कहा कि भारत और दुनिया के वैज्ञानिक इस वायरस के नए प्रकार पर करीब नजर रखे हुए हैं. ब्रिटेन, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका में स्वतंत्र तौर पर इसकी निगरानी की जा रही है. वैज्ञानिक अनुसंधान कर रहे हैं अभी किसी नतीजे पर नहीं पहुचा जा सकता है.

उन्होंने कहा कि आरटी-पीसीआर जांच में नए स्वरूप का पता लगाया जा सकता है, लेकिन यह देखने की जरूरत है कि रैपिड एंटीजन जांच में इसका पता लगता है या नहीं. उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि अभी कोई निष्कर्ष नहीं है कि आरएटी जांच में इसका पता नहीं लग पाएगा.’’

कई देशों ने लगाई ब्रिटेन से आनेजाने वाली उड़ानों पर रोक

ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्वरूप सामने आने के मद्देनजर भारत समेत फ्रांस, जर्मनी, बेल्जियम, ऑस्ट्रिया और इटली समेत कुछ अन्य देशों ने ब्रिटेन से आनेजाने वाली उड़ानों पर रोक लगा दी है. ब्रिटेन की सरकार ने चेताया है कि नए किस्म के कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल सकता है और वहां पर नयी पाबंदियां लगायी गयी हैं.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने श्रेणी-4 के सख्त प्रतिबंधों को तत्काल प्रभाव से लागू करते हुए कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन सामने आया है, जो पूर्व के वायरस के मुकाबले 70 प्रतिशत अधिक तेजी से फैलता है और लंदन और दक्षिण इंग्लैंड में तेजी से संक्रमण फैला सकता है. हालांकि, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने कहा कि अभी तक ऐसा कोई सबूत नहीं मिला है जो साबित करे कि वायरस का नया प्रकार अधिक घातक है और इस पर टीका कम प्रभावी होगा.

यह भी पढ़ें-

अद्भुत नजारा: 800 सालों में पहली बार बेहद करीब आए वृहस्पति और शनि गृह, देखिए शानदार तस्वीरें

J&K DDC Elections: महबूबा मुफ्ती का दावा- PDP नेताओं को गिरफ्तार कराकर नतीजों में हेरफेर करना चाहती है BJP

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*