Farmer Protest: कांग्रेस नेता शैलजा बोलीं- केंद्र ने ‘असंवेदनशीलता’ की सभी सीमाएं पार की

हरियाणा कांग्रेस प्रमुख कुमारी शैलजा ने सोमवार को यह कहते हुए केंद्र पर निशाना साधा कि किसान हफ्तों से कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन उनकी पीड़ा से उस पर कोई असर नहीं पड़ा है. शैलजा ने दावा किया कि 30 से अधिक प्रदर्शनकारी किसानों की मृत्यु हो गई है, लेकिन इस सबका बीजेपी सरकार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है, जिसने ‘‘असंवेदनशीलता की सभी सीमाएं पार कर ली हैं.’’

उन्होंने यहां एक बयान में कहा, ‘‘बीजेपी सरकार का रवैया हमें अंग्रेजों द्वारा देश के लोगों के खिलाफ किए गए जुल्म की याद दिलाता है.’’ पूर्व केंद्रीय मंत्री ने दावा किया, ‘‘30 से अधिक किसान अब तक अपनी जान गंवा चुके हैं, जिसके लिए बीजेपी सरकार सीधे जिम्मेदार है. निर्दयी बीजेपी सरकार अपने अहंकार में डूबी हुई है.’’

किसानों को किया जा रहा मजबूर: शैलजा

उन्होंने कहा, ‘‘बीजेपी सरकार का यह क्रूर चेहरा देश के इतिहास में हमेशा याद किया जाएगा.’’ किसान संगठनों ने दावा किया है कि 30 से अधिक प्रदर्शनकारी किसानों की दिल का दौरा पड़ने और सड़क दुर्घटनाओं सहित विभिन्न कारणों से मृत्यु हो गई है. शैलजा ने कहा कि कोविड-19 महामारी के बीच, किसानों को अपने घरों, परिवारों को छोड़कर राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर बैठने के लिए मजबूर किया गया है.

बीजेपी सरकार पर लगाए आरोप 

उन्होंने दावा किया, ‘‘बीजेपी सरकार किसानों के अधिकारों को छीनना चाहती है और कृषि अर्थव्यवस्था को बड़े पूंजीपतियों को सौंपना चाहती है. सरकार का इरादा और नीति कुछ औद्योगिक घरानों के लाभ के लिए देश की अर्थव्यवस्था का दोहन करना है.’’ कुमारी शैलजा ने आरोप लगाया कि हरियाणा में बीजेपी सरकार ने किसानों को बांटने के लिए सतलुज-यमुना लिंक नहर का मुद्दा किसानों के बीच उठाना शुरू किया है, जिसे वे समझ गए हैं.

यह भी पढ़ें-

ममता बनर्जी ने शरद पवार को किया फोन, क्या विपक्षी नेताओं की बड़ी रैली आयोजित करेंगी सीएम?

दिल्ली में कुत्ते-बिल्लियों के लिए बनेगा श्मशान घाट, अंतिम संस्कार के लिए पुजारी की भी होगी व्यवस्था

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*