कोरोना का असर, उत्तराखंड में उच्च शैक्षणिक संस्थान ग्रीष्मकालीन अवकाश के लिए बंद

देहरादून. उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. इसी बीच कोविड संक्रमण की श्रृंखला तोड़ने के लिए उत्तराखंड में सभी उच्च शैक्षणिक संस्थानों को शुक्रवार को ग्रीष्मकालीन अवकाश के लिए बंद कर दिया गया है.

उत्तराखंड के उच्च शिक्षा राज्य मंत्री धन सिंह रावत ने यहां एक बयान में कहा कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राज्य के सभी सरकारी और निजी कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और उनसे संबंद्ध संस्थानों में सात मई से 12 जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि इस आशय का आदेश जारी कर दिया गया है.

“कोरोना के प्रसार को रोकने में मिलेगी मदद”
मंत्री ने कहा कि उच्च शैक्षणिक संस्थानों को ग्रीष्मकालीन अवकाश के लिए बंद करने के फैसले से कोरोना वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी. कई कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के अनेक कर्मचारी अब तक कोरोना संक्रमित हो चुके हैं जिनमें से कई शिक्षकों और प्राचार्यों की इससे जान भी जा चुकी है. तीन मई को इस संबंध में जारी आदेश में कहा गया है कि राज्य के उच्च शैक्षणिक संस्थानों को अग्रिम आदेशों तक बंद रखा जाएगा, लेकिन इस दौरान ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी.

ये भी पढ़ें:

Coronavirus In UP: सामने आए 28076 नए केस, 24 घंटे में 372 लोगों की हुई मौत

हमीरपुर: यमुना नदी में कई लाशों के मिलने से हड़कंप, कोरोना संक्रमण से मौत की आशंका

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*