Bihar Lockdown: रोहतास में पुलिस और दुकानदारों के बीच झड़प, रोड़ेबाजी में दो जवान घायल

रोहतास: बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन लागू है. दुकानों को केवल सुबह सात से 11 बजे तक ही खोलने की अनुमति है. नियमों का पालन कराने में पुलिस जुटी हुई है. लेकिन इस दौरान उन्हें पब्लिक की नाराजगी का सामना करना पड़ रहा है. ताजा मामला बिहार के रोहतास जिले का है, जहां शनिवार को सब्जियों की दुकान बंद कराने गई पुलिस पर सब्जी दुकानदारों ने हमला कर दिया. बचाव में पुलिस ने लाठीचार्ज किया. देखते ही देखते पूरा बाजार रणक्षेत्र में तब्दील होगा गया. दोनों तरफ से रोड़ेबाजी की गई. इस घटना में दो पुलिस जवानों के घायल होने की सूचना है. पूरी घटना जिले के सासाराम अनुमंडल के करगहर की है.

बाजार शिफ्ट करने की अपील कर रही थी पुलिस

मिली जानकारी अनुसार पुलिस सब्जी दुकानदारों से करगहर बाजार से हटाकर जगजीवन राम स्टेडियम में जाने की अपील कर रही थी. इसी बात पर सब्जी विक्रेता उग्र हो गए और पुलिस पर पथराव कर दिया. सब्जी दुकानदारों के अलावा फुटपाथी दुकानदारों ने भी पुलिस पर पथराव किया, जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गए. 

इस दौरान पुलिस टीम ने उपद्रव मचा रहे सभी दुकानदारों को खदेड़ दिया और उन्होंने ने भी पत्थर चलाए. बता दें कि कोरोना के प्रकोप को देखते हुए करगहर बाजार के सब्जी दुकानदारों को जगजीवन राम स्टेडियम में शिफ्ट करने की योजना है. कुछ सब्जी विक्रेता जगजीवन राम स्टेडियम में चले भी गए है. लेकिन ज्यादातर दुकानदार इस बात को मनाने को तैयार नहीं हैं. 

अंचलाधिकारी ने कही कार्रवाई की बात

घटना के संबंध में करगहर के अंचलाधिकारी सुरजेश्वर कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि बाजार में लग रही भीड़ को देखते हुए सब्जी मंडी को जगजीवन राम स्टेडियम में शिफ्ट करने के लिए सब्जी दुकानदारों को कहा गया है. लेकिन उनमें से कुछ असामाजिक तत्वों ने आज पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया, जिसमें दो पुलिसकर्मी को चोट आई है. फिलहाल स्थिति को कंट्रोल कर लिया गया है और प्रशासन द्वारा आगे की जो कार्रवाई है, वो की जा रही है.

यह भी पढ़ें –

बेटी ने दफन की मां की लाश, अंतिम संस्कार के लिए नहीं थे पैसे, पिता की चार दिन पहले हुई थी मौत

एंबुलेंस विवाद: पप्पू यादव और राजीव प्रताप रुडी ने ABP न्यूज पर रखा अपना पक्ष, जानें- क्या कहा?

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*