नितिन गडकरी ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को दिए निर्देश, कहा ‘राजनीति नहीं, सभी की मदद करें’

रविवार को नागपुर कार्यकारिणी की बैठक में केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद नितिन गडकरी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को महामारी प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देश दिए. साथ ही कहा कि पार्टी ने इस बार कई कार्यकर्ताओं को खो दिया है, इसलिए सब लोग अपना ध्यान रखें, और समाज सेवा करते हुए राजनीति नहीं करने की अपील की है. जिससे जरूरतमंद लोगों की मदद हो सके. नितिन गडकरी ने कहा कि ‘समाज सेवा में राजनीति मत करो क्योंकि केवल आपके किए गए अच्छे काम का श्रेय कार्यकर्ताओं के साथ साथ बीजेपी को भी मिलेगा’. उन्होंने आगे कहा कि महामारी कब तक रहेगी भविष्य कोई नहीं जानता है, इसलिए हमें सबसे अच्छे के लिए सोचना चाहिए और सबसे बुरे के लिए तैयार रहना चाहिए. वहीं कार्यकर्ताओं को राजनीति का सही मतलब बताते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राजनीति का मतलब केवल सत्ता में रहना नहीं है, बल्कि ये सामाजिक कार्य और राष्ट्रवाद है, ‘हमें जाति, धर्म या पार्टी के बारे में सोचे बिना समाज और गरीबों के साथ खड़े रहना चाहिए और सभी की मदद करनी चाहिए’.

कोविड के नियमों का पालन करने की अपील

नितिन गडकरी ने कहा कि किसी को भी बिना किसी वैध कारण के अपने घर से बाहर नहीं जाना चाहिए और हमेशा फेस मास्क पहनना चाहिए, सामाजिक दूरी बनाए रखनी चाहिए और महामारी के सभी प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए. साथ ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से काम करना और संचार के लिए मोबाइल फोन का उपयोग करना चाहिए.

प्लाज्मा की व्यवस्था पर दिया जोर

नितिन गडकरी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से रक्तदान शिविर आयोजित किए बिना रक्त और प्लाज्मा की व्यवस्था करने पर ध्यान केंद्रित करने को कहा है. उन्होंने कहा कि ब्लड बैंकों में सीमित संख्या में रक्त और प्लाज्मा अपने संबंधित वार्डों के कर्मचारियों से मंगवाया जा सकता है. साथ ही महाराष्ट्र के हर जिले में शवों को ले जाने के लिए अच्छी तरह से सुसज्जित एम्बुलेंस सेवाओं और वाहनों की व्यवस्था करने के लिए कहा है.

इसे भी पढ़ेंः

CDC ने हवा से कोरोना वायरस के फैलने की बात को पहली बार माना, संशोधित की गाइडलाइन्स

AIMIM: असदुद्दीन ओवैसी ने कोविड से बिगड़ते हालात के चलते बीजेपी पर कसा तंज, जानिए क्या कहा

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*