बिहारः डबल मर्डर से छपरा में सनसनी, दो दोस्तों का एक-एक कर गला रेतकर मार डाला

छपराः एक तरफ कोरोना से बचाव के लिए बिहार में लॉकडाउन है तो दूसरी ओर अपराधी घटनाओं को अंजाम देने में लगे हैं. मामला बिहार के छपरा जिले का है जहां दो दोस्तों की हुई हत्या के बाद सनसनी फैल गई है. जिले के बनियापुर थाना क्षेत्र के मझौलिया पुल के पास से दोनों का शव बरामद किया गया है.

दोनों दोस्तों की पहचान बनियापुर थाना क्षेत्र के मंझवलिया गांव निवासी दिलीप प्रसाद एवं हरिहरपुर गांव निवासी अलाउद्दिन के बेटे मोहम्मद निजामुद्दीन के रूप में की गई है. बताया जाता है कि बनियापुर थाना क्षेत्र के पुछरी बाजार में दोनों की दुकान थी. रविवार की रात दुकान बंद करके घर लौटने के दौरान वे रास्ते से गायब हो गए.

दिलीप पुछरी बाजार पर होटल चलाता था और निजामुद्दीन की छाता मरम्मत करने की दुकान थी. मंझवलिया के रास्ते मे कुछ लोग जुगर रहे थे और उस दौरान खून से लथपथ दो शव को देखते ही आने जाने वाले लोग चिल्लाने लगे. आवाज सुनकर आसपास के लोग भी पहुंच गए.

पुलिस की सूचना के बाद घटनास्थल पर पहुंचे मृतक के परिजन 

पता चला कि दोनों दोस्तों की हत्या कर दी गई है. चौक के पास से साइकिल को भी बरामद किया गया है. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पुलिस भी पहुंची. शव को अपने कब्जे में लेकर उनके परिजनों को इसकी सूचना दी. जिसके बाद परिजन भी घटनास्थल पर पहुंचे.

कुछ दिन पहले वार्ड सदस्य को भी मारी थी गोली

मृतक दिलीप प्रसाद के पुत्र मणिराज ने बताया कि पुलिस को कई बार सूचना दी गई लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. कुछ ही दिन पहले वार्ड सदस्य की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस तरह की घटना इलाकों में लगातार हो रही थी जिसको लेकर लोगों में दहशत का माहौल था.

छपरा के एसपी संतोष कुमार ने बताया कि उन्होंने खुद घटना घटनास्थल का निरीक्षण किया है. हत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. हत्यारों तक पहुंचने के बाद ही पता चल पाएगा कि इसके पीछे क्या वजह है. उनकी किसी से कोई दुश्मनी भी नहीं थी.

यह भी पढ़ें- 

बिहार: निजी बैंक के कैशियर को दिनदहाड़े गोली मारकर 9 लाख की लूट, पैसे जमा करने जा रहा था पीड़ित

शहाबुद्दीन के समर्थकों ने लालू यादव और तेजस्वी के खिलाफ खोला मोर्चा, पुतला दहन कर जताया विरोध

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*