लखनऊ: थाई युवती की मौत के मामले में स्पा मैनेजर से पूछताछ शुरू, इन जवाबों की तलाश में पुलिस

लखनऊ. थाई युवती के मामले की जांच कर रही लखनऊ पुलिस ने सोमवार को गोमतीनगर स्थित दो स्पा सेंटर की तलाशी ली. विभूतिखण्ड थाना की पुलिस ने स्पा सेंटर में लगे सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर समेत तमाम दस्तावेज और रिकॉर्ड जब्त किए हैं. फिलहाल स्पा सेंटर सील कर दिया गया है. बता दें कि थाई युवती इसी स्पा सेंटर में काम करती थी.

स्पा सेंटर से जब्त रिकॉर्ड से पुलिस को कई बेहद महत्वपूर्ण जानकारियां मिली हैं. पुलिस को सीसीटीवी फुटेज में राजधानी के कई बड़े और रसूखदार लोगों के वहां आने-जाने के बारे में पता चला है. साथ ही स्पा सेंटर में मसाज के लिए बुकिंग के रजिस्टर से कई नेताओं और कारोबारियों के मोबाइल नंबर मिलने की बात भी सामने आ रही है. पुलिस सूत्रों की माने तो 150 से ज्यादा नेताओं और कारोबारियों के नंबर मिले हैं जिनकी पड़ताल की जा रही है. जांच टीम को यह भी पता चला है कि थाई युवती कई साल से रायपुर के बिल्डर राकेश शर्मा के संपर्क में थी. राकेश शर्मा लखनऊ में ही एक स्पा सेंटर चलाता है. सलमान स्पा सेंटर का मैनेजर था.

जांच में पता चला है कि युवती 1-2 साल पहले भी लखनऊ आई थी. तब उसने राकेश के स्पा सेंटर में काम किया था. खास बात है कि थाई युवती टूरिस्ट वीजा पर लखनऊ आकर स्पा सेंटर में नौकरी कर रही थी जो नियम के विरुद्ध था. अब इस जानकारी के बाद पुलिस सभी स्पा सेंटर्स पर काम करने वाली विदेशी युवतियों के वीजा की पड़ताल की तैयारी कर रही है.

31 मार्च को लखनऊ के होटल में रुकी थी- सूत्र
उधर, युवती के बारे में पुलिस सूत्रों का कहना है कि वह 31 मार्च को लखनऊ आई और एक होटल में रुकी. साथ ही उसने स्पा सेंटर में काम शुरू कर दिया. एक दिन होटल में रुकने के बाद उसे स्पा सेंटर की अन्य लड़कियों ने ही हुसैनगंज इलाके में एक किराए का कमरा दिलाकर उसे वहां शिफ्ट करा दिया था. पुलिस सूत्र बताते हैं कि 8 अप्रैल को स्पा सेंटर बंद हो गया. युवती को थाईलैंड वापस जाना था, लेकिन तब तक कोरोना के चलते इंटरनेशनल फ्लाइट मिलने में दिक्कत शुरू हो गई और वो लखनऊ में ही फंस गई. इस बीच युवती का राजधानी के बड़े लोगों से मिलना जारी रहा.

3 मई को हुई थी मौत
22 अप्रैल को युवती की तबीयत अचानक खराब हो गई. राकेश शर्मा और सलमान उसका उपचार कराते रहे, लेकिन हालत नही सुधरी. युवती के लिए स्पा सेंटर की लड़कियों ने पैसे इकट्ठा कर किसी तरह एक बाइपेप मशीन भी खरीदी. इसके बावजूद उसकी हालत बिगड़ती गई. 28 अप्रैल को उसे राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया. सलमान ने थाईलैंड में युवती के परिवारवालों से सम्पर्क कर उसकी हालत के बारे में जानकारी दी. 
परिवारवालों ने उसे दिल्ली के बड़े अस्पताल में शिफ्ट करने को कहा, लेकिन ऑक्सीजन लेवल काफी कम होने की वजह से डॉक्टरों ने मना कर दिया. डॉक्टरों का कहना था कि ऐसी हालत में युवती को शिफ्ट कराना रिस्की हो सकता है. आखिर 6 दिन बाद यानि 3 मई को युवती की मौत हो गई.

युवती की मौत से मचा हड़कंप
युवती की मौत के 3 दिन बाद इस मामले में रसूखदार नेता और बिल्डर के बेटे का नाम आया तो हड़कंप मचना शुरू हुआ. चर्चा शुरू हुई कि नेता-बिल्डर के बेटे ने युवती को मौज-मस्ती के लिए बुलाया था और वह कोरोना संक्रमित होकर मर गई. पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. डीसीपी पूर्वी संजीव सुमन के नेतृत्व में पुलिस की टीम छानबीन कर रही है.

मैनेजर सलमान से पूछताछ जारी
स्पा सेंटर के मैनेजर सलमान से पूछताछ की जा रही है. युवती को लखनऊ किसने और क्यों बुलाया था? वह यहां किस-किस के संपर्क में रही? कहां-कहां गई? कहां-कहां ठहरी? इसकी जानकारी जुटाई जा रही है. युवती, सलमान और बिल्डर राकेश शर्मा समेत कई लोगों के बीते 2 महीने की मोबाइल नंबर की कॉल डिटेल और लोकेशन भी निकलवाई गई है. साथ ही स्पा सेंटर से मिले सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल नंबरों की भी गहराई से पड़ताल की जा रही है.

ये भी पढ़ें:

गाजियाबाद: हंसते-खेलते परिवार पर कहर बनकर टूटा कोरोना, 11 दिन में 4 लोगों की मौत, अनाथ हुईं मासूम बच्चियां

Coronavirus in UP: यूपी के इस जिले में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले, दूसरे नंबर पर है लखनऊ

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*