यूपी से बिहार पहुंची नाबालिग का दो दिनों तक होता रहा यौन शोषण, पड़ोसियों ने सुनी चीख तो कराया मुक्त

अररिया: यूपी के उन्नाव जिले के एक गांव से भटक कर अररिया पहुंची नाबालिग के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया है. मिली जानकारी अनुसार बंद कमरे में दो दिनों तक 15 साल की बच्ची का यौन शोषण होता रहा. जब कमरे में बंद लड़की की आस पड़ोस के लोगों ने चीख सुनी तो उसे मुक्त कराया और बाल कल्याण समिति के समक्ष उपस्थित कराकर, उसे किशनगंज बालिका गृह भेज दिया. इस पूरे मामले में संतोष कुमार पांडेय पर दुष्कर्म का आरोप लगा है, जिसके बाद वो फरार हो गया है. मामले में महिला थाना में पॉक्सो एक्ट के तहत कांड दर्ज किया गया है.

घर से भाग कर अररिया पहुंची थी पीड़िता

मिली जानकारी अनुसार पीड़िता 25 अप्रैल को बिना अपने माता-पिता को बताए घर से भाग गई और अररिया पहुंच गई. अंजान जगह पर उसकी मुलाकात संतोष नामक युवक से हुई जो उसे अपने घर लेकर चल गया. दो दिनों तक लड़की को अपने घर में रखने के बाद 5 मई को संतोष बस पर चढ़ाने के बहाने पीड़िता को लेकर घर से निकला. लेकिन बस पर चढ़ने के बजाय लड़की को जयप्रकाश नगर में एक कमरे में बंद कर दिया और उसका यौन शोषण करता रहा.

पीड़िता के चीखने-चिल्लाने पर दो दिनों के बाद उसे पड़ोस के लोगों ने मुक्त कराया और पारा विधिक स्वयंसेवक (पीएलवी) कुमोद कुमार पासवान के माध्यम से 8 अप्रैल को बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया. इस दौरान आरोपी युवक संतोष कुमार पांडेय फरार हो गया, लेकिन लोगों ने उनका आधार कार्ड लेकर बाल कल्याण समिति को दिया.

आरोपी युवक की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी

मामले में बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष ने महिला थाना को जानकारी देते हुए आवेदन दिया, जिसके आधार पर महिला थाना में एफआईआर दर्ज किया गया है. बहरहाल आरोपी युवक फरार है और पीड़िता को बालिका गृह किशनगंज भेज दिया गया है. पुलिस आरोपी युवक की गिरफ्तारी के लिए विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी कर रही है.

यह भी पढ़ें – 

पटनाः पप्पू यादव की पत्नी का CM नीतीश कुमार पर हमला, कहा- महामारी से लड़ें और मानवता को बचाएं

गंगा में शवों के बहने से दुखी हैं नीतीश कुमार, अधिकारियों से कहा- दोबारा ना हो ऐसी घटना

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*