टीकाकरण से जुड़ी मौत के बाद ब्राजील का फैसला, प्रेग्नेंट महिलाओं पर रोकी एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन

<p style="text-align: justify;"><strong>Covid-19 Vaccination Suspend:</strong> ब्राजील की केंद्रीय सरकार ने मंगलवार को राष्ट्रीय स्तर पर एस्ट्राजेनेका की कोविड-19 वैक्सीन से प्रेगनेन्ट महिलाओं का टीकाकरण रोक दिया. सरकार ने ये फैसला रियो डि जेनेरो में टीकाकरण से जुड़े संभावित स्ट्रोक के चलते एक गर्भवती महिला की मौत के बाद लिया.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>ब्राजील ने एस्ट्राजेनेका की कोविड-19 वैक्सीन से टीकाकरण रोका</strong></p>
<p style="text-align: justify;">स्वास्थ्य मंत्रालय के टीकाकरण कार्यक्रम समन्वयक ने पत्रकारों को बताया कि स्वास्थ्य नियामिक एनविसा ने प्रेगनेन्ट महिलाओं पर वैक्सीन के इस्तेमाल के बारे में पहले चेतावनी जारी की थी. उसके बाद एहतियाती उपाय के तौर पर निलंबन लागू किया गया. अधिकारियों ने घटना की जांच शुरू कर दी है. निलंबन सिर्फ एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन पर लागू है. देश में इस्तमाल की जा रही सिनोवाक और फाइजर की विकसित वैक्सीन पर उसका कोई प्रभाव नहीं है. राज्य के स्वास्थ्य सचिव एलेक्जेंडर चीपे ने कहा कि रियो डि जेनेरो निवासी प्रेगनेन्ट महिला की मौत एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन लगवाने के बाद हुई थी. नियामक संस्था एनविसा ने बताया कि 35 वर्षीय महिला 23 सप्ताह की प्रेगनेन्ट थी और उसकी मौत सोमवार को हेमरेज स्ट्रोक से अस्पताल में पांच दिन पहले दाखिल होने के बाद हो गई. &nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>हेमरेज स्ट्रोक से एक प्रेगनेन्ट महिला की मौत के बाद लिया फैसला</strong>&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">एनविसा ने बयान में कहा, "हेमरेज स्ट्रोक की प्रतिकूल प्रभाव का मूल्यांकन किया गया जो संभावित तौर पर प्रेगनेन्ट महिला को लगाई गई वैक्सीन से जुड़ा हुआ था." एस्ट्राजेनेका ने बयान में कहा कि प्रेगनेन्ट महिला और स्तनपान करानेवाली को उसकी कोविड-19 वैक्सीन के मानव परीक्षण से बाहर रखा गया था. जानवरों पर परीक्षण से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष नुकसान का सबूत प्रेगनेन्सी से संबंधित नहीं उजागर हुआ था. एनविसा का कहना था कि वैक्सीन लगवाने वाली प्रेगनेन्ट महिलाओं में अन्य प्रतिकूल प्रभाव की जानकारी उसे नहीं है. एस्ट्राजेनेका की कोविड-19 वैक्सीन ब्राजील में जन स्वास्थ्य संस्थान फिओक्रज के साथ साझेदारी के जरिए विकसित और वितरित होती है. फिओक्रज के अध्यक्ष निशिया त्रिनदाद ने पत्रकारों को जानकारी दी कि निलंबन जरूरी था.&nbsp;ब्राजील में दुनिया का दूसरा खतरनाक कोविड-19 प्रकोप दर्ज किया गया है. मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि आधिकारिक मौत के आंकड़े बढ़कर&nbsp;425,000 से ज्यादा हो गए हैं.</p>
<p><strong><a title="मेडिकल उपकरण लेकर दिल्ली पहुंचा दक्षिण कोरिया का विमान, 200 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर भी आए" href="https://www.abplive.com/news/world/south-korea-aircraft-arrived-in-delhi-with-medical-equipments-for-treatment-1912929">मेडिकल उपकरण लेकर दिल्ली पहुंचा दक्षिण कोरिया का विमान, 200 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर भी आए</a></strong></p>
<p><strong><a title="कोरोना वायरस का भारतीय वैरिएंट अब 44 देशों में मौजूद, WHO ने दी जानकारी" href="https://www.abplive.com/news/world/indian-variant-of-corona-now-exist-in-44-countries-who-gave-information-1912947">कोरोना वायरस का भारतीय वैरिएंट अब 44 देशों में मौजूद, WHO ने दी जानकारी</a></strong></p>

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*