स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र से की 214 एमटी ऑक्सीजन देने की मांग, हरसंभव मदद का मिला भरोसा

पटनाः केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन के साथ बुधवार को हुई वर्चुअल मीटिंग में मंगल पांडेय ने बिहार में ऑक्सीजन कोटा को बढ़ाने के लिए आग्रह किया है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बिहार को 214 एमटी ऑक्सीजन देने की मांग की. कोरोना की स्थिति को देखते हुए उन्होंने ‘डी’ एवं ‘बी’ टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन फ्लोमीटर, ऑक्सीजन मास्क के लिए भी कहा. 

मंगल पांडेय ने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग एवं स्वयं के संसाधनों से राज्य सरकार कोरोना मरीजों को बेहतर उपचार देने के लिए लगातार संसाधनों में बढ़ोतरी कर रही है. बिहार में दवा, उपकरण, ऑक्सीजन और अन्य जरूरी सामग्री राज्य को उपलब्ध कराने के लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्द्धन का राज्य की ओर से आभार व्यक्त किया. इस पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बिहार राज्य को हरसंभव मदद का भरोसा दिया.

केंद्र से मिले पांच लीटर के 92 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

मंगल पांडेय ने कहा कि बुधवार को फिर केंद्र से पांच लीटर के 92 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मिले हैं. वहीं पूर्व में राज्य के विभिन्न अस्पतालों एवं जिला स्वास्थ्य समिति को पांच लीटर के 2430 और 10 लीटर के 1500 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भेजे गए हैं. राज्य के विभिन्न मेडिकल कॉलेज सह अस्पतालों एवं जिला अस्पतालों में लगभग 909 बाइपैप मशीन बीते महीने में उपलब्ध कराए गए हैं. बुधवार को 18 साल से उपर वाले लोगों के लिए और छह लाख 14 हजार वैक्सीन की डोज पटना पहुंची है. इसमें पांच लाख कोविशील्ड और एक लाख 14 हजार कोवैक्सीन है.

सरकार के प्रयासों और लोगों के सहयोग व जागरूकता से स्वास्थ्य विभाग कोरोना को मात देने की दिशा में सफल हो रहा है. रिकवरी रेट में भी लगातार इजाफा हो रहा है. पांच दिनों से राज्य में कोरोना के जो आंकड़े आए हैं, वह राज्य के लिए सुखद संदेश है. मंगल पांडेय में राज्यवासियों से अपील कर कहा कि वे लॉकडाउन के दिशा-निर्देशों का पालन अवश्य करें ताकि कोरोना को भगाने में सरकार को सफलता मिल सके. साथ ही सही समय पर कोरोना टीका का दूसरा डोज भी लें, ताकि शरीर में एंटीबॉडी कोरोना से लड़ने के लिए बन सके.

यह भी पढ़ें- 

आराः गेसिंग अड्डे पर पुलिस की छापेमारी, 11 धंधेबाज गिरफ्तार; आठ जवानों को SP ने किया सस्पेंड

Live आए पप्पू यादव के बेटे सार्थक, कहा- पिता की गलती यही कि उन्होंने एंबुलेंस का मुद्दा उठाया

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*