हरियाणा के CM मनोहर लाल खट्टर बोले- किसान प्रदर्शन स्थगित करें, इससे गांवों में संक्रमण फैल रहा

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों से गुरुवार को कोविड-19 महामारी के मद्देनजर प्रदर्शन स्थगित करने की अपील की. उन्होंने इसके साथ ही दावा किया कि धरना स्थलों से किसानों की आवाजाही के कारण गांवों में संक्रमण फैल रहा है. खट्टर ने कहा कि किसान बाद में अपनी इच्छा से प्रदर्शन दोबारा शुरू कर सकते हैं लेकिन अभी उन्हें इसे बंद कर देना चाहिए.

मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘अगर वे धरना दोबारा शुरू करने की इच्छा व्यक्त करते हैं तो वे स्थिति नियंत्रण में आने के बाद ऐसा करने को स्वतंत्र हैं.’’ खट्टर ने कहा कि उन्होंने एक महीने पहले किसान नेताओं से धरना स्थगित करने की अपील की थी ताकि संक्रमण नहीं फैले.

खट्टर बोले- धरना खत्म करे प्रदर्शनकारी किसान

किसानों के धरना स्थल से आवाजाही का संदर्भ देते हुए खट्टर ने कहा, ‘‘इन धरनों की वजह से चीजे सामने आ रही है, यह (संक्रमण) फैल रहा है.’’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘कई गांव संक्रमण के केंद्र के रूप में सामने आए हैं क्योंकि लोग नियमित रूप से धरना स्थलों से आ-जा रहे हैं.’’ बता दें कि केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान दिल्ली के सिंघू और टिकरी सीमा के अलावा हरियाणा के कई स्थानों पर भी महीनों से धरना दे रहे हैं.

खट्टर ने कहा, ‘‘उनके नेताओं को अब भी स्थिति को समझना चाहिए. वे बार-बार कह रहे हैं कि टीका लगवाएंगे लेकिन खुद अपनी जांच कराने को इच्छुक नहीं हैं. अगर वे जांच नहीं कराते हैं तो कोई नहीं जान सकता कि कौन संक्रमित है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें जांच के लिए सामने आना चाहिए और जो संक्रमित पाए जाते हैं उनका इलाज किया जा सकता है और उसके अनुरूप जरूरी कदम उठाए जा सकते हैं.’’

रेप पर बोले खट्टर- पुलिस कर रही जांच

किसानों की जांच से इनकार करने का संदर्भ देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘सभी को स्वास्थ्य एवं चिकित्सा प्रणाली पर भरोसा रखना चाहिए. अगर हम आशंका करना शुरू कर देंगे तो यह हमारी संकुचित मानसिकता को प्रदर्शित करेगा. इसलिए धरना स्थल पर बैठे किसानों से मेरी अपील है कि वे अपनी जांच कराएं.’’

टिकरी बॉर्डर के धरना स्थल पर पश्चिम बंगाल से आई महिला के साथ दो लोगों द्वारा कथित रूप से दुष्कर्म और बहादुरगढ़ के अस्पताल में पीड़िता की कोविड-19 जैसे लक्षणों से हुई मौत के बारे में पूछे जाने पर खट्टर ने कहा,‘‘ पुलिस मामले की जांच कर रही है. जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कानून के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी.’’

उल्लेखनीय है कि युवती के पिता की शिकायत के आधार पर पुलिस ने रविवार को मामले की जांच के लिए विशेष टीम गठित की. पिता द्वारा दर्ज प्राथमिकी में दो मुख्य आरोपियों सहित छह लोगों को नामजद किया गया है.

ये भी पढ़ें: भारत बायोटेक के अलावा दूसरी कंपनियां भी कर सकती हैं कोवैक्सीन का उत्पादन, सरकार ने दिए संकेत

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*