कोविशील्ड वैक्सीन की डोज के बीच गैप बढ़ाने के फैसले का अदार पूनावाला ने किया स्वागत, बताया ‘सही वैज्ञानिक निर्णय’

<p style="text-align: justify;"><strong>नई दिल्लीः</strong> कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड की दो डोज के बीच गैप को बढ़ाने को लेकर सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ आदर पुनावाला ने सही वैज्ञानिक निर्णय करार दिया है. पूनावाला के मुताबिक वैक्सीन की डोज के बीच के गैप बढ़ने से इसका प्रभाव बढ़ेगा और प्रतिरक्षा में भी इजाफा होगी. उन्होंने कहा कि सरकार को जो आंकड़े मिले थे उसके आधार पर लिया गया यह निर्णय काफी बेहतर है. सरकार के नए फैसले के बाद अब कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज 8 सप्ताह नहीं बल्कि 12 से 16 हफ्ते के बीच दी जाएगी.</p>
<p style="text-align: justify;">बता दें कि ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड वैक्सीन की दो खुराक दिए जाने के बीच गैप को बढ़ाकर 12-16 हफ्ते कर दिया गया है. राष्ट्रीय टीकाकरण तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) ने कोरोना रोधी कोविशील्ड वैक्सीन की दो खुराकों के बीच मौजूदा 6-8 सप्ताह के गैप को बढ़ाकर 12-16 हफ्ते करने की सिफारिश की थी.</p>
<p style="text-align: justify;">सरकार ने एनटीएजीआई के इश सिफारिश को स्वीकर कर ली है. सिफारिश स्वीकर करने की जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने दी. स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा, ”कोविशील्ड वैक्सीन के दो डोज के बीच के गैप को 6 से 8 हफ्ते से बढ़ाकर 12 से 16 हफ्ते कर दिया गया है. ये फैसला कोविड वर्किंग ग्रुप की तरफ से की गई सिफारिशों के आधार पर लिया गया है.”</p>
<p style="text-align: justify;">बता दें कि एनटीएजीआई ने कोरोना रोधी कोविशील्ड टीके की दो खुराकों के बीच अंतर बढ़ाकर 12 से 16 हफ्ते करने की सिफारिश की थी. हालांकि कोवैक्सिन की खुराकों के बीच हैप बढ़ाने को लेकर बदलाव की अनुशंसा नहीं की गई है.</p>
<p style="text-align: justify;"><a href="https://www.abplive.com/news/india/sputnik-vaccine-has-arrived-in-india-available-in-the-market-next-week-1913586" target="_blank" rel="noopener"><strong>Sputnik in India: अगले हफ्ते से लोगों को लग सकता है रूस का स्पुतनिक का टीका, जुलाई से भारत में ही होगा उत्पादन&nbsp;</strong></a></p>

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*