गोरखपुर: सादगी से घरों में हुई ईद की नमाज, मस्जिदों और ईदगाहों में पसरा रहा सन्‍नाटा

गोरखपुर: वैश्विक महामारी कोरोना के बीच लोगों ने घरों में ईद की नमाज अदा की. मस्जिदों और ईदगाहों में सन्‍नाटा पसरा रहा. सीमित संख्‍या में इमाम के साथ पांच लोगों ने ईद की नमाज मस्जिद में अदा की. सुबह 5 बजे से ही आलाधिकारियों के साथ पुलिस के जवान सड़कों पर गश्‍त करते दिखे. इस दौरान लॉकडाउन होने की वजह से शहर की अधिकतर सड़कों पर सन्‍नाटा पसरा रहा.

घरों में ही अदा की नमाज 
गोरखपुर के शाहमारुफ स्थित जामा मस्जिद, नार्मल स्थित हरजत मुबारक खां शहीद दरगाह, नूर मस्जिद बहरामपुर, तुर्कमानपुर स्थित‍ नई मस्जिद में भी अल-सुबह 5:30 बजे सूरज निकलने के ठीक बाद नमाज हो गई. मस्जिदों में सीमित संख्‍या में लोगों ने नमाज अदा की. शहर में अधिकतर लोगों ने घरों में ही नमाज अदा की. लोगों ने वैश्विक महामारी कोरोना के खतरे को भांपते हुए घरों में ही नमाज अदा करने में भलाई समझी.

गश्त पर रहे अधिकारी 
एडीएम सिटी आरके श्रीवास्‍तव ने बताया कि सुबह से ही वो और एसपी सिटी सोनम कुमार शहर के अलग-अलग इलाकों में गश्‍त पर रहे हैं. फोर्स भी तैनात की गई है. ईद की नमाज मुस्लिम समाज के लोगों ने ज्‍यादातर घरों में ही अदा की है. इससे सड़क, मस्जिद और ईदगाह पर अधिक भीड़ नहीं जुटने पाई. वैश्विक महामारी कोरोना के खतरे को देखते हुए लोगों ने घरों में ही ईद की नमाज अदा की है. मस्जिद और ईदगाह में सीमित संख्‍या में लोग नमाज अदा की है.

मुस्लिम समाज के लोगों का मिला सहयोग 
एसपी सिटी सोनम कुमार ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर कितनी खतरनाक है, ये सभी को पता चल गया है. यही वजह है कि मुस्लिम समाज के लोगों ने घरों में नमाज अदा की है. मस्जिद और ईदगाह में भी इमाम और सीमित संख्‍या में लोगों ने नमाज अदा की है. उन्‍होंने बताया कि जुमे की नमाज में भी लोगों से वे अपील करते हैं कि वे अपने घरों में ही नमाज अदा करें. उन्‍होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर काफी खतरनाक है इसलिए सड़क, मस्जिद और ईदगाह पर नमाज पढ़ने की बजाय लोग घरों में ही नमाज पढ़ रहे हैं. मुस्लिम समाज के लोगों का काफी सहयोग मिला है.

ये भी पढ़ें: 

UP Coronavirus Update: सामने आए 15747 नए केस, 312 मरीजों की हुई मौत 

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*