प्रियंका गांधी ने क्यों कहा- अगर जरूरत में किसी की मदद करना अपराध है तो मैं ये बार-बार करूंगी, यहां जानें

लखनऊ: राज्यसभा के पूर्व सांसद शाहिद सिद्दीकी ने कहा कि आज ईद के दिन क्राइम ब्रांच के एक इंस्पेक्टर उनसे पूछताछ करने आए कि उन्होंने अपनी पत्नी के लिए प्रियंका गांधी और मुकेश शर्मा से रेमडीसिवीर का दो इंजेक्शन कैसे प्राप्त किया? मुकेश शर्मा कांग्रेस के पूर्व विधायक हैं.

पूर्व सांसद शाहिद सिद्दीकी ने ट्वीट करते हुए कहा, “वे टैक्स पेयर्स का पैसा ये पता लगाने में बर्बाद कर रहे हैं कि कैसे किसी की मदद हुई, ये नहीं कि दवा और O2 की कमी के कारण लोग क्यों मर रहे हैं?” 

शाहिद सिद्दीकी के ट्वीट पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा, “अगर जरूरत में किसी की मदद करना अब अपराध है तो मैं ये बार-बार करूंगी. मेरे विचार से जब लोग दवा की तलाश में और हवा के लिए हांफते हुए मरते हैं तो चुपचाप देखना और कुछ न करना कहीं अधिक बड़ा अपराध है.”

वहीं, कांग्रेस के पूर्व विधायक मुकेश शर्मा ने कहा, “माननीय प्रियंका जी स्वर्गीय श्रीमती इंदिरा गांधी जी से प्रेरित होकर राजनीति में आया था कांग्रेस का सिपाही हूं मदद करना गुनाह है तो इसके लिए मैं फांसी की सजा भुगतने के लिए तैयार हूं! ऐसे हजारों गुनाह भी करने होंगे तो यह मेरे लिए सौभाग्य होगा मैं नहीं पूरा देश आपके साथ है!!”

बता दें कि मुकेश शर्मा लगातार कोरोना संक्रमितों की मदद कर रहे हैं. उनके ट्विटर अकाउंट पर नजर डालें तो लोग लगातार उनसे मदद मांग रहे हैं और वे मदद से जुड़े ट्वीट्स करते हैं. गौरतलब है कि शुक्रवार को यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी से भी पुलिस ने पूछताछ की. शुक्रवार को क्राइम ब्रांच की टीम दिल्ली पुलिस के दफ्तर पहुंची थी. श्रीनिवास बी वी ने कहा, “वे यह जानना चाहते थे कि हम लोगों की मदद कैसे कर रहे हैं. हमने उनके सभी सवालों के जवाब दिए.” इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने बीजेपी सांसद गौतम गंभीर से भी फैबिफ्लू दवा के वितरण को लेकर जवाब मांगा, जिसका उन्होंने जवाब दिया.

भारत में इस साल 85 करोड़ से डोज ज्यादा स्पुतनिक-V वैक्सीन का होगा उत्पादन: RDIF

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*