कोरोना काल में मदद के लिए आगे आया प्राधिकरण, ऑक्सीजन बैंक की वजह लोगों को मिली राहत 

नोएडा: कोरोना महममारी के चलते नोएडा में ऑक्सीजन की भारी डिमांड हो गई जिसकी वजह से लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. लोगों की परेशानी को देखते हुए प्राधिकरण आगे आया है. प्राधिकरण ने ऑक्सीजन प्लांट ही नहीं लगाया बल्कि जिले के कई सामुदायिक केंद्रों में ऑक्सीजन बैंक खोलकर मरीजों और जरूरतमंदों को ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया करा रहा है. एबीपी गंगा की टीम ऑक्सीजन प्लांट और बैंक का हाल जानने के लिए ग्राउंड जीरो पर गई और वहां तैनात प्राधिकरण के कर्मचारियों से बात भी की. 

मरीजों को मिली राहत 
एबीपी गंगा की टीम सबसे पहले नोएडा प्राधिकरण की तरफ से लगाए गए ऑक्सीजन प्लांट पर पहुंची जहां प्रतिघंटा 15 हजार लीटर ऑक्सीजन तैयार की जा रही थी. प्राधिकरण के कर्मचारियों की मानें तो इस प्लांट से मरीजों को काफी राहत मिल रही है, उन्हें ऑक्सीजन के लिए भटकना नहीं पड़ रहा है. साथ ही जो मरीज यहां पर भर्ती हैं उन्हें भी पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिल रही है.

इस तरह की जा रही है मदद
एबीपी गंगा की टीम ने नोएडा के सेक्टर 62 समुदायिक केंद्र में बने ऑक्सीजन बैंक का जायजा लेते ये जानने की कोशिश की कि आखिर किस तरह से लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर यहां दिया जा रहा है. वहां मौजूद प्राधिकरण के कर्मचारियों से जब बत की गई तो उन्होंने बताया कि महज 200 रुपए में ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिल किया जा रहा है. अगर किसी के पास ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं है तो उससे 25 सौ रुपए सिक्योरिटी मनी लेकर भरा सिलेंडर दे देते हैं. जब वो एक सप्ताह में सिलेंडर वापस करता है तो उसे 25 सौ रुपये सिक्योरिटी मनी वापस कर दी जाती है. 

दूर हो रही है किल्लत 
प्राधिकरण के कर्मचारियों ने बताया कि रोज यहां पर 10 से 15 लोग ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिल कराने आते हैं और सभी को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन सिलेंडर मिल रहा है. किसी को भी वापस नहीं किया जा रहा है. शायद यही वजह है कि अब धीरे-धीरे जिले में ऑक्सीजन सिलेंडर की किल्लत दूर हो रही है और लोगों को राहत भी मिलने लगी है.

ये भी पढ़ें: 

यूपी में ऑक्सीजन संकट दूर करने के लिए योगी सरकार ने उठाए ये कदम, बदल चुके हैं हालात 

 

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*