CM शिवराज सिंह चौहान ने कहा- मध्य प्रदेश में नहीं होंगी दसवीं की परीक्षा, 12वीं के एग्जाम भी स्थगित

भोपाल: कोरोना की दूसरी लहर के खतरे को देखते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि राज्य में 10वीं की परीक्षाएं नहीं होंगी. छात्रों को मार्क्स शीट मूल्यांकन के आधार पर जारी की जाएंगी. उन्होंने कहा कि जो छात्र ज्यादा अंक चाहता है कि वह बाद में जब परिक्षाएं आयोजित हो तो उसमें बैठ सकता है. सीएम ने यह भी घोषणा की कि 12वीं कक्षा की परीक्षाए स्थगित कर दी गई हैं.

ऑफिस ऑफ शिवराज की ट्वीट किया  गया, “जो बच्चे 10वीं की परीक्षा देने वाले थे, वह परीक्षा नहीं होगी. उन्हें मूल्यांकन कर पास किया जाएगा. 12वीं की परीक्षा भी स्थगित की गई है. परिस्थितियों के सामान्य होने पर ये परीक्षा आयोजित की जाएगी.“

 

बता दें मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटे में #COVID19 के 8,087 नए मामले सामने आए हैं. इस दौरान 11,671 लोग डिस्चार्ज हुए और 88 लोगों की मृत्यु दर्ज़ की गई.  प्रदेश में कोरोना के कुल मामले 7,16,708 हैं. वहीं 6,05,423 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है. इस बीमारी से प्रदेश में अब तक 6,841 लोगों की मौत हुई है. जबकि कुल सक्रिय मामले 1,04,444 हैं.

इस बीच केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस को काबू करने के लिए मध्य प्रदेश मॉडल की तारीफ की है. मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से संक्रमितों की संख्या में कमी आई है और ज्यादा मरीज रिकवर हो रहे हैं. सूत्रों का कहना है कि पीएमओ ने कोरोना वायरस को काबू करने के लिए मध्य प्रदेश मॉडल की तारीफ की है. वहीं प्रधानमंत्री कार्यालय ने मध्य प्रदेश मॉडल की लिखित कॉपी भी मंगवाई है.

यह भी पढ़ें:

राजधानी दिल्ली में 10 अप्रैल के बाद कोरोना के सबसे कम केस, आज आए 8506 नए मामले; 289 की मौत

 

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*