दिल्ली से लेकर महाराष्ट्र तक कम होने लगी कोरोना की रफ्तार, लेकिन बंगाल समेत कुछ राज्यों में कोविड-19 ने बढ़ाई चिंता

कोरोना संक्रमण की बुरी मार झेलने वाले महाराष्ट्र और दिल्ली समेत कुछ राज्यों में इसकी रफ्तार अब धीमी पड़ने लगी है. महाराष्ट्र में कोरोना के शुक्रवार को 39 हजार 923 नए मामले आए जबकि 695 लोगों की इससे जान चली गई. हालांकि, राहत की बात ये रही कि पिछले 24 घंटे के दौरान इससे 53 हजार 249 लोग ठीक भी हुए हैं.

इसके बाद महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों के कुल मामले अब बढ़कर 53 लाख 9 हजार 215 हो गए हैं. 47 लाख 7 हजार 980 लोग इस महामारी से ठीक हो गए. हालांकि, कोरोना ने महाराषट्र में अब तक 79 हजार 552 लोगों की जान ले ली. जबकि, राज्य में अभी भी सक्रिय केस 5 लाख 19 हजार 254 है.

दिल्ली में 10 अप्रैल के बाद सबसे कम केस

इधर, राजधानी दिल्ली में भी शुक्रवार को 10 अप्रैल के बाद सबसे कम केस आए. कोरोना के 8 हजार 506 नए मामले सामने आए हैं जबकि 289 लोगों की मौत हो गई. दिल्ली में अब कोरोना का पॉजिटिविटी रेट घटकर 12.40% पर आ गया है. 10 अप्रैल के बाद ऐसा पहली बार है जब इतने कम केस दिल्ली में आए हैं.

हालांकि, पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना से 14 हजार 140 लोग ठीक हुए हैं. इसके बाद दिल्ली में कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या अब बढ़कर 13 लाख 80 हजार 981 हो गई है. अब तक कुल 12 लाख 88 हजार 280 लोग ठीक हो चुके हैं. यहां पर कोरोना से कुल 20 हजार 907 लोगों की जान जा चुकी है जबकि अभी भी राजधानी में 71 हजार 794 सक्रिय केस हैं.

कुछ राज्यों ने बढ़ाई चिंता

हालांकि, कुछ राज्यों में अभी कोरोना संक्रमण के नए रिकॉर्ड मामलों ने केन्द्र और राज्य सरकारों की चिंता बढ़ाकर रख दी है. इसमें पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु जैसे राज्य हैं.

कर्नाटक में शुक्रवार को 41 हजार 779 नए मामले आए जबकि 373 लोगों ने दम तोड़ दिया. तमिलनाडु में 31 हजार 892 नए मामले सामने आए जबकि 288 लोगों की मौत हो गई. मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान 8087 नए मामले सामने आए हैं जबकि 88 लोगों की मौत हुई है. पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को 20 हजार 846 नए मामले सामने आए जबकि 136 लोगों की जान चली गई

तो वहीं, हरियाणा में कोरोना के 10 हजार 608 नए केस सामने आए और 164 लोगों की कोरोना से मौत हो गई. पंजाब में भी कोरोना की रफ्तार बेकाबू है. यहां पर 8 हजार 68 नए मामले सामने आए जबकि 180 लोगों की जान चली गई.

ये भी पढ़ें: क्यों भारत को महंगा बेच रहा कोविड-19 का चिकित्सा सामान, चीन ने दी ये दलील

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*