गाजीपुर: वार्ड बॉय ने ‘जुगाड़’ से बचा ली कई जिंदगी, रेगुलेटर नहीं मिला तो ऑक्सीजन सिलेंडर में फिट की सिरिंज

गाजीपुर. कोविड-19 महामारी के वक्त कुछ लोग जहां आपदा को अवसर बना रहे हैं तो वहीं कुछ लोग अपनी जान की परवाह किए लोगों की जिंदगी बचाने में जुटे हैं. गाजीपुर के जिला अस्पताल में वार्ड बॉय पिंटू कश्यप भी कई कोरोना मरीजों की जान बचा चुके हैं. उन्होंने एक जुगाड़ से कई लोगों की जिंदगी बचा ली. वार्ड बॉय पिंटू कश्यप की तारीफें हो रही हैं.

जिला अस्पताल में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (सीएमएस) से लेकर निचले स्तर के वार्ड बॉय और स्वीपर तक अपनी जिम्मेदारी निभाते नजर आ रहे हैं. एबीपी ने जब एक दिन पहले जिला अस्पताल के मेडिसिन वार्ड और मेडिकल वार्ड का निरीक्षण किया तो बहुत सारे ऑक्सीजन सिलेंडर में रेगुलेटर के बजाए इंजेक्शन सिरिंज लगा हुआ मिला. उसी इंजेक्शन से लोगों को ऑक्सीजन भी दिया जा रहा था. सिलेंडर में रेगुलेटर की जगह इंजेक्शन का सफल जुगाड़ वार्ड बॉय पिंटू ने किया है. इस जुगाड़ से पिंटू अब तक दर्जनों मरीजों की जान बचा चुके हैं. 

वार्ड बॉय ने ऐसे किया जुगाड़
बता दें कि वार्ड बॉय पिंटू कश्यप खुद डायरिया से पीड़ित हैं, लेकिन फिर भी वो जी जान से मरीजों की तीमारदारी में जुटे हैं. उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल में मौजूदा समय में ऑक्सीजन सिलेंडर की कोई कमी नहीं है. इसमें लगने वाले रेगुलेटर की कुछ कमी हैं. जिसकी वजह से चाह कर भी मरीजों को ऑक्सीजन नहीं दे पा रहे थे. तब हमने 20 एमएल का सिरिंज का पिछला हिस्सा काटकर निकाल दिया और फिर उस पर टेप चिपकाकर उसे 2 मिनट इंजेक्शन के पिछले हिस्से को आग से गर्म किया ताकि उसकी प्लास्टिक कुछ नरम हो जाए. फिर उसे ऑक्सीजन सिलेंडर में फिट कर दिया.

ऑक्सीजन सिलेंडर में सिरिंज फिट हो जाने के बाद उसके अगले हिस्से में ऑक्सीजन मास्क में लगे पाइप का कुछ हिस्सा काटकर ऑक्सीजन सिलेंडर में लगे इंजेक्शन  में फिट कर दिया. इस तरह से मरीजों की जिंदगी बचनी शुरू हो गई.

ये भी पढ़ें:

UP Coronavirus Update: सामने आए 15747 नए केस, 312 मरीजों की हुई मौत 

गाजीपुर: सामने आई नदी में लाशों के मिलने की सच्चाई, बिहार से जुड़ा है लिंक  

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*