किसी भी जिले में बेड और ऑक्सीजन की कमी नहीं, कोरोना की तीसरी लहर के लिए तैयार- योगी आदित्यनाथ

नोएडा. सीएम योगी आदित्यनाथ लगातार अलग-अलग जिलों का दौरा कर कोरोना की स्थिति का जायजा ले रहे हैं. सीएम योगी इसी सिलसिले में रविवार को नोएडा पहुंचे. उन्होंने यहां जिला प्रशासन की ओर से किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की. इसके अलावा उन्होंने जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के साथ बैठक कर जिले में कोविड-19 को लेकर रणनीति पर चर्चा की. 

इस दौरान वो मीडिया से मुखातिब भी हुए. योगी ने कहा कि राज्य सरकार ने कोविड नियंत्रण व उपचार के लिए प्रभावी कदम उठाए हैं. उन्होंने कहा कि इसके बेहतर नतीजे भी देखने को मिल रहे हैं. योगी ने कहा, “कोरोना संक्रमण की दर में  निरंतर गिरावट देखने को मिल रही है. अप्रैल में पॉजिटिव केस की दर 16.33 फीसदी थी जो तेजी से घटकर 4.8 फीसदी रह गई है.

मुख्यमंत्री ने कहा हमारे प्रबंधन कार्यों की सराहना विश्व स्वास्थ्य संगठन, नीति आयोग के अलावा मुंबई उच्च न्यायालय ने भी की है. प्रदेश सरकार कोरोना टेस्टिंग वैक्सीन निशुल्क उपलब्ध करा रही है अब तक प्रदेश में डेढ़ करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है और यह प्रयास निरंतर आगे बढ़ रहा है. मुख्यमंत्री ने कहा उत्तर प्रदेश देश का सर्वाधिक कोरोना टेस्ट कराने वाला राज्य है. प्रदेश में प्रतिदिन औसतन ढाई लाख टेस्ट किए जा रहे हैं. एक दिन में रिकॉर्ड 2,97,000 टेस्ट किए गए हैं और टेस्टिंग की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है.

“किसी जिले में बेड की कमी नहीं”
योगी ने बताया कि जनपदों में पर्याप्त संख्या में L1, L2 तथा L3 के बेड उपलब्ध हैं. उन्होंने कहा कि 1 मार्च को 17,325 बेड की उपलब्धता की तुलना में आज प्रदेश में 80 हजार ऑक्सीजन बेड उपलब्ध हैं. पूरे प्रदेश में कहीं भी आज बेड की दिक्कत नहीं है. मुख्यमंत्री ने बताया राज्य के सभी जिलों में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है. वर्तमान में 1080 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की पूर्ति की जा रही है. सभी जिलों में 72 घंटे से अधिक की रिजर्व ऑक्सीजन उपलब्ध है. योगी ने आगे कहा कि पूरे देश में यूपी पहला राज्य है जिसने ग्लोबल टेंडर के जरिए वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित की है. 

“तीसरी लहर की तैयारी शुरू”
उन्होंने कहा कि गांव में संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए प्रदेश सरकार विशेष स्क्रीनिंग और टेस्टिंग अभियान चला रही है. हमारे इन प्रयासों की सराहना विश्व स्वास्थ्य संगठन और नीति आयोग ने भी की है. कोरोना की तीसरी वेव की आशंका को देखते हुए प्रदेश सरकार ने अभी से ही तैयारी शुरू कर दी है. प्रत्येक जिले में बच्चों और महिलाओं के लिए विशेष अस्पतालों की सुविधा के लिए निर्देश दे दिए गए हैं. प्रदेश सरकार आने वाली आपदा के लिए पूरी तरह से तैयारी में लग चुकी है.

इतना ही नहीं कोविड-19 को देखते हुए गरीब और जरूरतमंदों को राहत पहुंचाने के लिए राज्य सरकार अंत्योदय और पात्र गृहस्थी श्रेणी के राशन कार्ड धारकों को 3 माह के लिए प्रति यूनिट 3 किलो गेहूं तथा 2 किलो चावल निशुल्क मुहैया करा रही है. जिससे प्रति यूनिट 5 किलो निशुल्क खाद्यान्न जरूरतमंदों को मिलेगा. इससे प्रदेश की लगभग 15 करोड़ की आबादी को फायदा होगा.

ये भी पढ़ें:

यूपी में लॉकडाउन का असर, 24 घंटे में सामने आए इतने मामले, पढ़ें ताजा आंकड़े

Coronavirus in Uttarakhand: उत्तराखंड के सीएम बोले- कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने के लिए तैयार

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*