जानिए कोरोना काल में किसानों ने कैसे उपज के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले, सबसे बड़ा निर्यात हुआ

देश में जानलेवा कोरना वायरस की दूसरी लहर के बीच कृषि क्षेत्र को लेकर अच्छी खबर आई है. कोरोना काल में किसानों ने उपज के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. इस साल गेहूं और चावल में सबसे बड़ा निर्यात हुआ है. इस सीजन में 14 मई तक 366.61 लाख मिट्रिक टन गेहूं और 557.78 लाख मिट्रिक टन चावल की खरीद हुई है.

सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल 2020 से फरवरी 2021 के दौरान कृषि और संबद्ध कमोडिटी का 2.74 लाख करोड़ रुपए का निर्यात किया गया, जो पिछले साल की समान अवधि में हुए 2.31 लाख करोड़ रुपए के निर्यात के मुकाबले 18.49% ज्यादा रहा. देश में चावल (गैर बासमती) के निर्यात के मामले में भी 132 % की महत्वपूर्ण वृद्धि दर्ज की गई है. गैर बासमती चावल का निर्यात 2019-20 के 13,030 करोड़ रुपये से बढ़कर 2020-21 में 30,277 करोड़ रुपये हो गया.

30 फीसदी ज्यादा गेहूं की खरीद

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली और जम्म-कश्मीर में गेहूं की खरीद सुचारू रूप से जारी है. पिछले सीजन में 282.69 लाख मिट्रिक टन की गई खरीद की तुलना में इस सीजन में 14 मई तक 366.61 लाख मिट्रिक टन गेहूं की खरीद की गई है. चालू रबी विपणन सीजन में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 72,406.11 करोड़ रुपए की खरीद से लगभग 37.15 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं. इस प्रकार सरकार की ओर से पिछले साल से 30 फीसदी ज्यादा गेहूं की खरीद हुई है.

1.11 करोड़ लाख किसान लाभान्वित हुए

14 मई तक कुल 742.41 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान की खरीद के साथ खरीफ के चालू सीजन 2020-21 में खरीद करने वाले राज्यों में धान की खरीद सुचारू रूप से जारी है. पिछले साल इसी अवधि में 687.24 लाख मीट्रिक टन की खरीद की गई थी. चालू खरीफ विपणन सीजन के खरीद अभियान के जरिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 1,40,165.72 करोड़ रुपये की खरीद से लगभग 1.11 करोड़ लाख किसान लाभान्वित हुए हैं.

यह भी पढ़ें-

Lockdown: जानिए दिल्ली-यूपी समेत आज से किन-किन राज्यों में बढ़ा लॉकडाउन, एक क्लिक में पढ़ें पूरी जानकारी

वैक्सीनेशन पर सरकार का बड़ा फैसला, कोविशील्ड की दूसरी डोज़ के लिए पुराना अपॉइंटमेंट मान्य

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*