कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन पर भी असरदार होगी मॉडर्ना की वैक्सीन, कंपनी ने कहा- वैज्ञानिकों को पहले ही इस बात का अंदेशा था

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के पाए जाने के बाद दुनियाभर में हड़कंप मच गया है. इस बीच कोरोना के नए स्ट्रेन को लेकर अमेरिकी दवा कंपनी मॉडर्ना ने बड़ा दावा किया है. मॉडर्ना का कहना है कि उसकी वैक्सीन कोरोना नए स्ट्रेन पर भी कारगर है. वैक्सीन ट्रायल के नतीजे बताते हैं कि यह वैक्सीन किसी भी स्ट्रेन पर कारगार हैं. कंपनी ने कहा है कि उनके वैज्ञानिकों को पहले से ही इस बात का अंदेशा था कि कोरोना अपना स्ट्रेन बदलेगा. इसी को ध्यान में रखकर वैक्सीन बनाई गई है.

कंपनी ने उम्मीद जताई है कि उनकी वैक्सीन ब्रिटेन में पाए गए कोरोना के नए स्ट्रेन के खिलाफ भी प्रोटेक्टिव होगी. कंपनी अपनी वैक्सीन के असर की पुष्टि के लिए आने वाले हफ्तों में टेस्टिंग की योजना बना रही है

संक्रमण से बचाव में 94 फीसदी तक प्रभावी

मॉडर्ना कंपनी ने दावा किया है कि वैक्सीन कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव में 94 फीसदी तक प्रभावी है. अमेरिकी रेगुलेटर्स ने मॉडर्ना की कोविड-19 वैक्सीन को मंजूरी दे दी है. इस वैक्सीन को 18 साल और बुजुर्ग अमेरिकियों के लिए आपातकालीन उपयोग के तौर पर मंजूरी दी गई है. एक हफ्ते पहले ही यूएसए फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने फाइजर और उसके जर्मन पार्टनर बायोएनटेक के वैक्सीन को मंजूरी दी थी. उम्मीद है कि 2021 के पहले 3 हफ्तों में मॉडर्ना के 8.5 करोड़ से 10 करोड़ डोज अमेरिका में उपलब्ध हो जाएंगे.

अमेरिकी सरकार ने मॉडर्ना को 20 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है. सर्दियों के कारण देश में मामलों और मौतों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. यहां रोजाना रिकॉर्ड 3000 मौतें हो रही हैं.

ब्रिटेन में कोरोना वायरस नया स्ट्रेन मचा रहा है तबाही

ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन का पता चलने के बाद भारत और यूरोप समेत कई देशों ने वहां से आने वाली फ्लाइट पर रोक लगा दी है. वहीं ब्रिटेन कड़ा लॉकडाउन लागू करने पर विचार कर रहा है ताकि खतरनाक वायरस के प्रसार की रोकथाम की जा सके. पिछले 24 घंटे में ब्रिटेन में अब तक के सबसे ज्यादा नए केस और सबसे ज्यादा मौतें देखने को मिली हैं. पिछले 24 घंटे में 39,237 नए केस आए जबकि 744 लोगों की जान गई. महामारी शुरू होने के बाद से यह एक दिन में नए केस और मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा है. दिसंबर महीने से बाद से ब्रिटेन में सबसे ज्यादा केस नए स्ट्रेन के ही आए हैं.

वायरस का यह नया रूप दक्षिण अफ्रीका में पैदा हुआ है और वहां से आए दो लोगों के जरिए ब्रिटेन पहुंचा है. ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने कहा कि ये पहले वाले के मुकाबले और ज्यादा खतरनाक है.

ये भी पढ़ें-

ब्रिटेन में कोरोना के एक और स्ट्रेन से हड़कंप, साउथ अफ्रीका से आ रहे लोगों की रोकी यात्रा, लॉकडाउन सख्त

ब्रिटेन में कोरोना के एक और स्ट्रेन से हड़कंप… दक्षिण अफ्रीका का वायरस पहुंचा England

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*