पटना: बेल रिजेक्ट होने के बाद सिविल कोर्ट से भागे सात कैदी, आत्मसमर्पण के बाद किए गए थे पेश

पटना: बिहार की राजधानी पटना से सटे दानापुर में मंगलवार को सात कैदी फरार हो गए. दानापुर व्यवहार न्यायालय के एसीजीएम तीन के कोर्ट में पेशी के बाद सभी कैदी फरार हुए हैं. गंभीर अपराधों के आरोपी सभी कैदियों को आत्मसमर्पण के बाद कोर्ट में पेश किया गया था. लेकिन कोर्ट की ओर से जब उन्हें बेल नहीं मिला तो सभी मौका देखकर फरार हो गए. 

गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही पुलिस

कोर्ट से सात कैदियों के एक साथ फरार हो होने के बाद कोर्ट में खलबली मच गई. घटना के बाद दानापुर पुलिस को सूचना दी गई. सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और कैदियों की तलाश में जुट गई. लेकिन पुलिस की सुस्ती की वजह कैदी फरार होने में सफल रहे. फिलहाल दानापुर और सिगोड़ी थाना की पुलिस मिलकर कैदियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

इस मामले में एसीजीएम तीन के कोर्ट के लिपिक अरविन्द कुमार ने दानापुर थाने में मामला दर्ज कराया है, जिसमें बताया गया है कि सिगोड़ी थाना कांड संख्या -72/2021 के सभी अभियुक्त न्यायिक अभिरक्षा से फरार हो गए हैं. ऐसे में सभी पर विधिसम्मत कार्रवाई किया जाए. फरार कैदियों में सोनू यादव, लल्लू यादव, सिद्धनाथ यादव, उपेन्द्र यादव, चन्दन कुमार, मुकुल कुमार और राजकुमार यादव शामिल हैं. 

बेल रिजेक्ट होने के बाद भागे सभी

लिपिक की ओर से दिए गए आवेदन में बताया गया है कि सभी आरोपियों ने जमानत के लिए न्यायालय के समक्ष आत्मसर्पण किया था. लेकिन जमानत याचिका खारीज होने की सूचना मिलते ही सभी कैदी न्यायिक अभिरक्षा से फरार हो गए. आवेदन मिलने के बाद दानापुर और सिंगोड़ी पुलिस छपेमारी में जुटी है.

इस मामले में दानापुर थानाध्यक्ष अजित कुमार शाह ने बतया कि फरार सात कैदियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. जल्द ही सभी को पकड़कर न्यायालय में पेश किया जाएगा.

यह भी पढ़ें –

नीतीश कैबिनेट का बड़ा फैसला, कोरोना से जान गंवाने वालों के परिजनों को चार लाख रुपये देगी सरकार

नीतीश सरकार पर लालू यादव और राबड़ी देवी का ‘डबल अटैक’, स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर साधा निशाना

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*