बिहारः अस्पताल में बच्चों का दिल बहलाने के लिए दीवारों पर बनाए जा रहे कार्टून, खिलौने की भी व्यवस्था

गयाः कोरोना की तीसरी लहर को लेकर केंद्र और लेकर राज्य सरकार अपनी-अपनी ओर से तैयारी में लगी है. इसको देखते हुए गया एएनएमएमसीएच का प्रबंधन भी अपनी ओर से तैयारी में लग गया है. एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम, जापानी इंसेफेलाइटिस या कोरोना की तीसरी लहर की चपेट में आने वालों बच्चों का इलाज के साथ मनोरंजन कैसे हो इसका भी ख्याल रखा जा रहा है.

शिशु रोग वार्ड में टीवी पर दिखाए जाएंगे कार्टून

गया के अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती होने वाले बच्चों को खुशनुमा माहौल देने के लिए शिशु रोग विभाग के सभी वार्डों की दीवारों पर छोटा भीम, शिनचैन आदि कार्टून की पेंटिंग बनावाई जा रही है. इसके साथ टीवी और खिलौने भी उपलब्ध होंगे. शिशु रोग वार्ड में टीवी पर कार्टून भी दिखाए जाएंगे जिन्हें अक्सर बच्चे देखते हैं.  

बच्चों को घर जैसा माहौल देने की हो रही कोशिश

अस्पताल अधीक्षक डॉ. हरिश्चंद्र हरि ने बताया कि अस्पताल पहुंचने वाला बच्चा हो या बड़ा हर कोई तनाव व दर्द से परेशान होता है. ऐसे में बीमारी बढ़ने की संभावना होती है. इसलिए अस्पताल में माहौल बदलने की कोशिश की जा रही है. बच्चो में अक्सर देखा जाता है कि अस्पताल पहुंचने के बाद उनमें डर होता है जिसे समाप्त करने व बच्चों को घर जैसा माहौल देने की कोशिश की जा रही है.

डॉ. हरिशचंद्र ने कहा कि शिशु रोग विभाग के वार्डों की दीवारों पर कार्टून व एजुकेशनल कार्टून बनवाई जा रही है. टीवी पर कार्टून वाले चैनल ही चलाए जाएंगे. वार्ड में ही बेड पर खिलौना भी मिलेगा ताकि बच्चे ऊर्जावान महसूस करें और जल्द स्वस्थ्य हो सकें.

अस्पताल के प्रबंधक संतोष कुमार ने बताया कि उनके मन में यह ख्याल आया था कि बच्चों को एक अलग माहौल दिया जाए. उन्होंने इस संबंध में जब अधीक्षक से चर्चा की व अन्य डॉक्टरों से बात की तो सभी ने इसे सराहते हुए अपनी सहमति दी जिसके बाद यह सब किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें- 

बिहारः गया में शराब पार्टी के बाद वृद्ध की हत्या, मौत के बाद एक हाथ को कुल्हाड़ी से काटकर किया अलग

बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय सिंह को किया निलंबित, DIG ने कहा- कार्रवाई होगी

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*