Shukravar Vrat: शुक्रवार को ऐसे करें मां संतोषी की पूजा और चालीसा का पाठ, घर में आयेगी सुख, शांति और समृद्धि

Shukravar Vrat 2021: हिंदू धर्म में आज शुक्रवार के दिन मां संतोषी की पूजा की जाती है. इस पूजन का बड़ा महत्त्व है. धार्मिक मान्यता है कि मां संतोषी की पूजा पूरी श्रद्धा से करने पर जीवन में सुखों की प्राप्ति होती है. घर में सुख शांति और समृद्धि आती है. इस दिन संतोषी माता को खुश करने के लिए भक्त व्रत रखकर पूजा करते हैं और चालीसा का पाठ करते हैं. इससे संतोषी माता की कृपा भक्त पर होती है और भक्त की सभी मनोकामना पूरी होती है.

संतोषी माता के व्रत में इन चीजों का रखें ध्यान

भक्त को संतोषी माता के व्रत में कुछ चीजों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए क्यों कि इस व्रत में कुछ चीजें वर्जित होती है. मां संतोषी के व्रत के दौरान भक्त को खटाई नहीं खानी चाहिए. इस दिन हमें खट्टी चीजें नहीं बांटनी चाहिए.

पूजा विधि: प्रातः काल स्नानादि करके साफ वस्त्र धारण करें. घर में पूजा स्थल पर जाकर व्रत का संकल्प लें. इसके बाद मां संतोषी की प्रतिमा या चित्र स्थापित करें. इसके बाद कलश की स्थापना करें. बक्त को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि कलश तांबे का ही हो. इसके बाद पूरी श्रद्धा के साथ माता संतोषी की पूजा करें. संतोषी माता के व्रत की कथा सुनें, आरती करें. इसके बाद चालीसा का पाठ करें. फिर जल से भरे पात्र के जल का पूरे घर में छिडकाव करें. पूजा के बाद गुड़ और चने का प्रसाद बांटें.

महत्त्व: हिंदू धर्म में शुक्रवार की पूजा का विशेष महत्त्व है. इस दिन लोग घर में सुख, शांति और धन –वैभव के लिए माता संतोषी का व्रत रखकर पूजा अर्चना करते हैं. इससे भक्त के जीवन में सुखों का आगमन होता है. इससे घर की सभी परेशानियां समाप्त होती हैं और पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है. मान्यता है कि संतोषी माता का व्रत रखने से अविवाहित कन्याओं को मनचाहा वर मिलता है.

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*