Next Surya Grahan in India 2021: इस साल का दूसरा सूर्य ग्रहण अब दिसंबर में, जानें सही डेट और भारत में इसका प्रभाव

Next Surya Grahan effect in India 2021: साल 2021 का पहला सूर्यग्रहण 10 जून की शाम 6 बजकर 41 मिनट पर समाप्त हो गया. यह पूर्ण सूर्यग्रहण था. यह भारत में आंशिक रूप से केवल दो राज्यों के कुछ स्थानों से खत्म होने के कुछ देर पहले देखा जा सका था. इसके अलावा पहला सूर्यग्रहण उत्तरी अमेरिका के उत्तरी भाग, यूरोप, एशिया के कई शहरों, उत्तरी कनाडा और रूस के ज्यादातर हिस्सों में देखा गया.  

कब लगेगा साल का दूसरा सूर्य ग्रहण

ज्योतिष शास्त्र की गणनाओं के मुताबिक़ इसके बाद दूसरा सूर्यग्रहण इसी साल के अंत में 4 दिसंबर 2021 को लगेगा. इस सूर्यग्रहण को भी पहले सूर्यग्रहण की भांति भारत में नहीं देखा जा सकेगा. साल 2021 का दूसरा सूर्यग्रहण अंटार्कटिका, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अमेरिका में दिखाई पड़ेगा.

वर्ष 2021 के के कुल ग्रहण : साल 2021 में दो सूर्य ग्रहण और दो चंद्रग्रहण लगेगा. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जो निम्नलिखित तारीखों को होगा.

  • चंद्रग्रहण26 मई और 19 नवंबर 2021 को
  • सूर्य ग्रहण10 जून और 4 दिसंबर 2021 को

Jagannath Puri Rath Yatra 2021: कब से शुरू हो रही है जगन्नाथ रथ यात्रा? शामिल नहीं हो सकेंगें श्रद्धालु, जानें डेट और महत्व

चंद्रग्रहण

इस साल का दूसरा या आखिरी चंद्र ग्रहण 19 नवंबर को दोपहर करीब 11.30 बजे लगेगा, जो कि शाम 05 बजकर 33 मिनट पर समाप्त होगा. यह आंशिक चंद्रग्रहण होगा. यह भारत, अमेरिका, उत्तरी यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और प्रशांत महासागर में देखा जा सकेगा. वहीं पहला चंद्रग्रहण 26 मई को लगा था.

पूर्ण सूर्यग्रहण क्या है?

वैज्ञानिक मत के अनुसार अमावस्या के दिन सूर्य और पृथ्वी के मध्य जब चंद्रमा आ जाता है तो सूर्य ग्रहण होता है. वहीं जब सूर्य ग्रहण के दौरान चंद्रमा की छाया पूर्णरूप से सूर्य को ढक लेती है, तब ये पूर्ण सूर्य ग्रहण कहलाता है. इस दिन रिंग ऑफ फायर का अद्भूत नाजारा भी देखने को मिलेगा.

सेकेंड सूर्य ग्रहण का भारत पर प्रभाव

साल 2021 का दूसरा सूर्यग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा. इस लिए इस ग्रहण का कोई सूतक काल भारत में मान्य नहीं होगा. चूंकि यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा. इस लिए भारत पर इसक कोई खास प्रभाव नहीं पडेगा.  इसके बावजूद धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूर्य ग्रहण को अशुभ घटना के रूप में देखा जाता है. इस दौरान शुभ कार्यों को करने की मनाही होती है. सूर्य ग्रहण के दौरान पूजा-पाठ करना. मंदिरों में जाना मना होता है. सूर्य ग्रहण के समय मंदिर के कपाट बंद कर दिए जाते हैं.

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*