सक्रिय राजनीति में कब होगी लालू यादव की एंट्री? तेजस्वी यादव ने दिया ये जवाब

पटना: आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव शुक्रवार को 74 साल के हो गए. तीन साल बाद उन्होंने जेल के बाहर परिजनों के साथ अपना जन्मदिन सेलिब्रेट किया. तबीयत खराब होने की वजह से दिल्ली में बड़ी बेटी मीसा भारती के घर में रह रहे लालू यादव परिजनों के साथ केक काटते दिखे. बधाई देने वालों का पूरे दिन तांता लगा रहा. हालांकि, लालू यादव के जेल से बाहर आने के बाद से एक सवाल लगातार उठ रहा है कि वे सक्रिय राजनीति में कब एंट्री लेंगे? 

जल्द सक्रिय राजनीति में एंट्री लेंगे लालू यादव

इस सवाल का उनके बेटे और बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को जवाब दिया. इन दिनों पिता के साथ दिल्ली में रह रहे तेजस्वी यादव ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, ” फिलहाल हमने बहुत कम लोगों को लालू यादव से मिलने की इजाजत दी है. सेहत को देखते हुए बहुत ज्यादा रिस्क हमें लेना नहीं है. केवल परिवार वाले ही फिलहाल उनसे मिल रहे हैं.”

उन्होंने कहा, ” उम्मीद है कि जो गरीबों के मसीहा हैं, समाजवादी नेता हैं, वो जल्द सक्रिय राजनीति में आएंगे. लोग लालू यादव को मिस कर रहे हैं और चाहते हैं कि वो सक्रिय राजनीति में आएं क्योंकि आज के दौर में देश को ऐसे नेता की जरूरत है जो सीधे साम्प्रदायिक शक्तियों से चुनैती ले सके और उन्हें मुंह तोड़ जवाब दे सके.”

बिहार सरकार फर्जीवाड़े में नंबर वन
 
बिहार में कोरोना से मौत के आंकड़ों के ‘खेल’ पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा, ” बिहार सरकार फर्जीवाड़े में नंबर वन है. एक बार नहीं कई बार हमने सरकार के इन कारनामों का सबूत सदन में पेश किया है. लेकिन बिहार सरकार आंकड़े छिपा रही है. पहले कोरोना टेस्ट के आंकड़े छिपाए गए और अब मौत के छिपाए जा रहे हैं. गांव में अब भी कितनी मौतें अनरिपोर्टेड हैं. बिहार की स्थिति बद से बदतर है.”

नेता प्रतिपक्ष ने कहा, ” कोई आंकड़ा नहीं है सरकार के पास. सरकार हर मोर्चे पर पूरी तरह से विफल रही है. कोई मामूली आंकड़ा नहीं था. अब स्वीकार कर रही है कि साढ़े नौ हजार के करीब मौत हुई है. समझिए कितने हजारों में सरकार ने मौत का आंकड़ा छिपाने का काम किया.” अंत में उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि लालू यादव जल्द से जल्द रिकवर करें. जिस तरह से लोगों का प्यार और दुआ है, हमें यकीन है कि लालू यादव जल्द से जल्द लोगों के बीच होंगे.

यह भी पढ़ें –

बिहारः केंद्र सरकार से अपील करते हुए बोले जीतनराम मांझी, चुनाव हो सकते हैं तो जनगणना से परहेज क्यों?

पप्पू यादव का आरोप- ‘मूर्खता’ से जनसंहार को फिर न्योता दे रही सरकार; जानें क्या है पूरा मामला

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*