तालिबानी आतंकियों पर पाकिस्तान ने कबूला सच, गृह मंत्री शेख रशीद ने अपने ही मुल्क को किया बेनकाब

पाकिस्तान आतंकियों को किस तरह प्रश्रय और उसका भरण पोषण करता है ये बात दुनिया में कहीं भी छिपी हुई नहीं है. हालत ये है कि खुद इमरान खान सरकार के मंत्री इस बात को कबूल कर रहे हैं कि तालिबानी आतंकियों के परिवार पाकिस्तान में पल रहे हैं.

अफगानिस्तान में बढ़ी हिंसा के बीच पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख रशीद ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा है कि अफगान तालिबान आतंकवादियों के परिवार राजधानी इस्लामाबाद के मशहूर इलाकों समेत विभिन्न क्षेत्रों में रहते हैं और कभी-कभी स्थानीय अस्पतालों में उनका इलाज भी किया जाता है.

टोलो न्यूज़ के मुताबिक, शेख रशीद ने ये भी कहा कि तालिबानियों को मेडिकल इलाज तक दिया जाता है. उनका यह बयान ऐसे वक्त पर आया है जब तालिबान के आक्रामक रुख के चलते पिछले कुछ हफ्तों के दौरान अफगानिस्तान में भारी हिंसा देखी जा रही है.

पाकिस्तान, अफगानिस्तान के नेताओं के इन आरोपों को निरंतर खारिज करता रहा है कि तालिबान अफगानिस्तान में विद्रोही गतिविधियों को निर्देशित करने और आगे बढ़ाने लिए पाकिस्तानी जमीन का उपयोग करता है. पाकिस्तान के निजी टीवी चैनल जियो न्यूज़ पर रविवार को प्रसारित इंटरव्यू के दौरान गृह मंत्री शेख राशिद ने कहा, ‘तालिबानियों के परिवार यहां पाकिस्तान के रवात, लोही भेर, बहारा कहू और तरनोल जैसे इलाकों में रहते हैं.’

उन्होंने कहा कि कभी-कभी उसके शव यहां पहुंचते हैं और वे मेडिकल इलाज के लिए भी यहां पर आते हैं. पाकिस्तानी गृह मंत्री ने जिन इलाकों का जिक्र किया उन्हें इस्लामाबाद के मशहूर उपनगरीय इलाके कहा जाता है. राशिद ने उर्दू-भाषा के चैनल से कहा, ‘कभी-कभार उनके (लड़ाकों) के शव अस्पताल लाए जाते हैं, तो कभी-कभी वे इलाज के लिए यहां आते हैं.’

गौरतलब है कि पाकिस्तान पर अक्सर अफगान तालिबान आतंकवादियों को पनाह देने और उनका समर्थन करने का आरोप लगाया जाता रहा है. जो पिछले दो दशकों से अफगानिस्तान सरकार से लड़ रहे हैं. पाकिस्तान के किसी शीर्ष मंत्री और वरिष्ठ राजनेता के जरिए इसे स्वीकार किया जाना दुर्लभ है.

ये भी पढ़ें: अजीबोगरीब बयान देने के लिए मशहूर शेख रशीद अहमद को इमरान खान ने बनाया पाकिस्तान का गृहमंत्री

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*