एक जुलाई से चेक बुक से लेकर एटीएम से निकासी तक बदल जाएंगे बैंकिंग के ये नियम

Change in Banking Rules from First July: अगर आपका बैंक में खाता है और आप बैंक के द्वारा लेन देन करते हैं तो आपके लिए ये खबर जान लेना बेहद जरूरी है. क्योंकि एक जुलाई से बैंकिंग सेक्टर में काफी कुछ बदलने जा रहा है और इस बदलाव से आपकी जेब पर कितना असर पड़ेगा, यह जानने के लिए एबीपी गंगा ने बैंकिंग एक्सपर्ट यामिनी अग्रवाल से खास बातचीत की.  

एक जुलाई से काफी कुछ बदल जाएगा

एबीपी गंगा से खास बातचीत के दौरान बैंकिंग एक्सपर्ट डॉ यामिनी अग्रवाल ने बताया कि, कल यानी 1 जुलाई से बैंकिंग में काफी कुछ बदलने जा रहा है.  जिसमे एटीएम से कैश निकासी से लेकर बैंक के ट्रांजेक्शन को लेकर चार्ज बढ़ाया जायेगा, साथ ही चेक बुक भी लेना महंगा होगा. 

बदल जाएंगे IFSC नंबर

इतना ही नहीं, कई बैंकों के IFSC नंबर भी कल से बदल जाएंगे जिसके बाद आपकी पुरानी चेक से लेन देन भी नहीं होगा. आपको लेन देन लिए नई चेकबुक लेनी होगी, तभी आप बैंक से लेनदेन कर सकेंगे. इसके पीछे की वजह बैंकों का मर्ज होना बताया जा रहा है.

वही, जो छूट आपको एटीएम निकासी में मिली थी, कोरोना महामारी के दौरान वो भी कल से समाप्त हो जायेगी और अब एक माह में सिर्फ 3 बार ही एटीएम से निकासी कर सकते है. अगर अपने बैंक के एटीएम से ही कैश निकासी कर रहे हैं, तो 4 बार कर सकते है. इससे ज्यादा करेगे तो प्रत्येक कैश निकासी पर अतिरिक्त चार्ज देना पड़ेगा. 

बैंक चार्जेज बढ़ाने का सही समय नहीं

एक्सपर्ट की मानें तो ये बढोत्तरी इसलिए की जा रही है, क्योंकि आरबीआई ने बैंकिंग के कई क्षेत्रों में बढ़ोत्तरी की है. जिसकी वजह से बैंक भी चार्जेजे बढ़ा रहे हैं. लेकिन एक्सपर्ट की माने तो ये वक्त चार्ज बढ़ाने के लिए मुनासिब नहीं है क्योंकि पहले से ही लोग कोरोना महामारी से परेशान हैं. लोगों की नौकरियां जा रही हैं, ऐसे में अतिरिक्त चार्ज से आम जनता और महंगाई की मार से जूझेगी. 

कोरोना काल में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया था कि, कोई भी बैंक में बचत खाते की अनिवार्यता नहीं होगी. यह आदेश अप्रेल से जून महीने तक के लिए था. ऐसे में खाते में मिनिमम बैलेंस ना होने पर भी लोगों को किसी तरह का जुर्माना नहीं चुकाना था. लेकिन अब 30 जून को इस फैसले की मियाद खत्म होने वाली है और 1 जुलाई से सीधा असर आप पर होने वाला है. 

एक जुलाई से चेकबुक पर भी चार्ज बढ़ा दिया जायेगा. जिसका सीधा असर आप पर पड़ने वाला है. चेकबुक चार्ज सेविंग व करेंट दोनों खाता धारकों को पे करना होगा. यानी कुल मिलाकर ये कहा जा सकता है कि कल से बैंकिंग भी महंगी हो जायेगी जिसके लिए आपको धयन देना होगा कि आवश्यकता पड़ने पर ही कैश के लेनदेन करे. 

ये भी पढ़ें.

गाजीपुर बॉर्डर पर बीजेपी कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच जमकर मारपीट, गाड़ियों में भी हुई तोड़फोड़

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*