मंदिर में मुस्लिम दानदाता का नाम स्वीकार्य नहीं, तोड़ी गई नाम पट्टिका, सियासत शुरू

Aligarh Muslim Name in Hindu Temple: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक बड़े प्राचीन मंदिर में मुस्लिम नेता की तरफ से वाटर कूलर दान किया गया. दीवार पर अपना नाम दानदाता के रूप में लिखवाकर शिला पट्टिका लगवा दी. मंदिर में मुस्लिम दान दाता का नाम देखकर हिंदूवादी संगठनों के लोग भड़क गए और उन्होंने शिला पट्टिका को तोड़ दिया. उनका कहना था कि किसी भी स्थिति में मंदिर के अंदर किसी मुस्लिम नाम को स्वीकार नहीं किया जाएगा. मामले पर अब राजनीति भी शुरू हो गई है.

लगाई गई सपा नेताओं के नाम की शिला पट्टिका
दरअसल, सपा नेता सलमान शाहिद ने हालही में लोधा थाना क्षेत्र में स्थित प्राचीन सिद्धपीठ खेरेश्वर धाम में एक वाटर कूलर दान किया गया था. इस दौरान तमाम लोग मौजूद थे. वाटर कूलर दान देने के बाद दीवार पर वहीं सलमान शाहिद के नाम की और समाजवादी नेताओं के नाम की शिला पट्टिका लगवा दी गई. शिला पट्टिका पर लिखा था ‘माननीय अखिलेश यादव जी राष्ट्रीय अध्यक्ष की प्रेरणा से माननीय श्री जफर आलम साहब एवं ठाकुर सत्यपाल सिंह अध्यक्ष खेरेश्वर महादेव मंदिर समिति के मार्गदर्शन में श्री खेरेश्वर महादेव मंदिर हरिदासपुर में आरओ वाटर कूलर का लोकार्पण स्वामी पूर्णानंद जी महाराज के कर कमलों द्वारा 28-06-2021 को किया गया. आरओ वाटर कूलर की स्थापना सलमान शाहिद प्रदेश कोषाध्यक्ष समाजवादी युवजन सभा द्वारा कराई गई’ साथ में तमाम समाजवादी पार्टी के नेताओं का नाम लिखा था जिसको देखकर हिंदूवादी संगठनों के लोग भड़क गए और उन्होंने बुधवार को खेरेश्वर धाम मंदिर में शिला पट्टिका को तोड़ दिया. 

हिंदू रीति रिवाज के अनुसार ये गलत है
विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल के सह मंत्री करण चौधरी ने बताया कि यहां पहले भी प्याऊ लगा हुआ था. किसने दान किया पहले नाम नहीं लिखा था. आज ये किसी मुस्लिम व्यक्ति ने दान कर दिया तो उन्होंने यहां पर बहुत बड़ा बोर्ड लगा दिया, जो हमारे हिंदू रीति रिवाज के अनुसार गलत है. ”मैं कहता हूं हमारे हिंदुओं की बहुत बड़ी गलती है कि हम मंदिर में मुसलमानों को आमंत्रित करते हैं. वो धीरे-धीरे हमारे मंदिरों में घुस रहे हैं. इसी तरीके से मैं प्याउ लगाने को तैयार हूं मस्जिदों में मुसलमान लगवाएं तो सही. उन्होंने 10 हजार का वाटर कूलर का दान किया है. मैं 20 हजार का वाटर कूलर लगवाने को तैयार हूं, मस्जिदों पर भगवा झंडी लगवाएं तो सही. इस तरह की हरकत कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी, इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा.”

मामले को लेकर शुरू हुई सियासत 
मामले में अब सियासी रूप लेना शुरू कर दिया है. भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष मुकेश लोधी ने कहा कि अलीगढ़ जिले के अंदर समाजवादी पार्टी के मुस्लिम समाज के लोगों ने एक वाटर कूलर लगाकर और अपनी नाम पट्टिका लगाकर अपनी मानसिकता का साफ परिचय दिया है. विधानसभा के चुनाव को देखते हुए जिस प्रकार की साजिश रच रहे हैं, हम इनके मकसद में कामयाब नहीं होने देंगे.”

हिंदू-मुसलमान सब एक होकर रहते हैं
मामले पर समाजवादी पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष अशोक यादव ने कहा कि ”ये हिंदुस्तान की संस्कृति है. यहां हिंदू-मुसलमान सब एक होकर रहते हैं. मेरे लिए गर्व की बात है कि एक हिंदू धर्म स्थान पर किसी मुसलमान ने पीने के पानी का इंतजाम कराया. सदियों से हमारे बुजुर्गों ने तालाब खुदवाए, प्याऊ लगाई तो ये सोच कर नहीं लगाई कि कोई हिंदू पानी पिएगा या मुसलमान पानी पिएगा. सब लोग पानी पिएंगे. आज जो ये लोग विरोध कर रहे हैं उनमें ऐसा हौसला होना चाहिए कि वो किसी मस्जिद पर जाकर ठंडे पानी का इंतजाम करें जिससे संस्कृति को बढ़ावा मिले. ऐसा नहीं है कि पहली बार पत्थर लगा है जो भी समाज सेवा करता है वो चाहता है कि लोग जानें कि ये किसने किया है.”

ये भी पढ़ें:   

Zila Panchayat Adhyaksh Election: 21 सीटों पर निर्विरोध जीते बीजेपी कैंडिडेट, सपा के खाते में गई महज एक सीट

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*