अयोध्या: गोपनीय बैठक में जमीन खरीद-फरोख्त के मामले पर हुई चर्चा, की गई पूछताछ

Ayodhya Secret Meeting: अयोध्या में पिछले दो दिनों से श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्यों की एक गोपनीय बैठक आयोजित हो रही है. इस बैठक के बारे में मीडिया को जानकारी नहीं दी जा रही थी. बैठक में श्री राम जन्म भूमि ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष महंत गोविंद देव गिरी, ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, सदस्य कामेश्वर चौपाल, डॉ अनिल मिश्रा, महंत दिनेन्द्र दास, विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्रा को शामिल किया गया. 

जमीन खरीद-फरोख्त मामले पर हुई चर्चा 
बैठक में जमीन खरीद-फरोख्त मामले पर ट्रस्ट पर लगे आरोपों पर विस्तृत रूप से चर्चा हुई है. साथ ही श्री राम मंदिर निर्माण के कार्य की प्रगति परकोटा निर्माण के लिए आवश्यक जमीन की आपूर्ति और कई अन्य मुद्दों पर भी चर्चा हुई है. कल ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरी ने राम मंदिर निर्माण स्थल का निरीक्षण किया था. 

की जा रही है जांच 
सूत्रों की मानें तो जमीन खरीद-फरोख्त मामले पर ट्रस्ट पर लगे आरोपों को ध्यान में रखकर एक उच्चस्तरीय जांच ट्रस्ट की तरफ से की जा रही है. साथ ही सूत्रों के मुताबिक पिछले दिनों राम मंदिर निर्माण का जायजा लेने अयोध्या पहुंचे आरएसएस के भैयाजी जोशी को ट्रस्ट के संरक्षक की भूमिका दी जा सकती है. 

हमलावर है विपक्ष
दरअसल, जमीन के खरीद-फरोख्त मामले पर ट्रस्ट के सदस्य डॉ अनिल मिश्रा और अयोध्या के भाजपा के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय पर गंभीर आरोप लगे हैं. इस आरोप के बाद लगातार विपक्ष ट्रस्ट और भाजपा पर हमलावर है. महापौर के ऊपर अपने रिश्तेदारों के साथ मिलकर ट्रस्ट को कई गुना महंगी जमीन बेचने का भी आरोप है. इस पूरे मामले पर बैठक में विस्तृत रूप से चर्चा हुई है, बैठक में अयोध्या के महापौर भी बुलाए गए थे और उनसे भी ट्रस्ट के सदस्यों ने सवाल-जवाब किया है.
 
पूछताछ भी की गई
बता दें कि, श्री राम जन्मभूमि ट्रस्ट के ऊपर जमीन खरीद-फरोख्त के मामले पर तमाम आरोप लगे और इन आरोपों को ध्यान में रखते हुए बड़े स्तर पर बैठक बुलाई गई. इस बैठक में जमीन खरीद-फरोख्त में लगे हुए लोगों से पूछताछ भी की गई. राम मंदिर निर्माण के दौरान परकोटा की जद में आ रहे कई मंदिरों को ट्रस्ट ने लिया है.

रखेंगे अपना पक्ष
श्री राम जन्म भूमि ट्रस्ट के सदस्यों की बैठक में मंदिर निर्माण में आ रही चुनौतियां, मंदिर निर्माण की प्रगति और अब तक हुए कार्यों पर वृहद रूप से चर्चा की गई है. इस पूरे मामले पर ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरी का कहना है कि वो पत्रकार वार्ता बुलाकर समस्त विषयों पर अपना पक्ष रखेंगे. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ऊपर लगे आरोपों के बाद अभी तक ट्रस्ट के किसी भी सदस्य ने तमाम बिंदुओं पर अपना पक्ष मीडिया के सामने नहीं रखा है. 

ट्रस्ट पर लगे आरोप बेबुनियाद हैं
श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरि ने कहा कि ट्रस्ट के ऊपर लगे सारे आरोप बेबुनियाद हैं. हालांकि, गोविंद देव गिरी का साफ कहना था कि ये कोई बैठक नहीं थी, ये उनका निजी दौरा था. मंदिर निर्माण की जानकारी देखने के लिए वो खुद आए थे. हालांकि, ट्रस्ट के सभी सदस्यों का एक साथ पहुंचना और एक बंद कमरे में 4 घंटे बैठक होना गोविंद देव गिरी के दावों की पोल खोलता है. साथ ही गोविंद देव गिरि ने कहा कि मंदिर निर्माण की प्रगति से हम संतुष्ट हैं, निर्माण कार्य तीव्र गति चल रहा है ट्रस्ट पर लगे हुए सारे आरोप बेबुनियाद हैं. 

भ्रम की स्थिति में बोलना ठीक नहीं
अयोध्या पहुंचे श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने कहा कि कल की बैठक में वो मौजूद नहीं थे. जब तक इस संपूर्ण मामले पर पूरी जानकारी प्राप्त नहीं कर लूंगा तब तक इस भ्रम की स्थिति में कुछ भी बोलना ठीक नहीं है. भैयाजी जोशी को ट्रस्ट का नया केअर टेकर बनाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि जिस दिन राम मंदिर के नींव की भराई का कार्य शुरू किया गया, उस समय वास्तु दोष दूर करने के लिए पूजा हुई थी. पूजा में भैयाजी जोशी उपस्थित थे. भैयाजी से श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य मार्गदर्शन लेते रहते हैं. लेकिन, ट्रस्ट के केयर टेकर के तौर पर भैयाजी जोशी को नई जिम्मेदारी मिली है इस बात की जानकारी नहीं है. 

ट्रस्ट में नए संरक्षक की भूमिका तय हो सकती है
अयोध्या में आयोजित गोपनीय ट्रस्ट की बैठक में जमीन खरीद-फरोख्त को लेकर लगे आरोपों पर वृहद स्तर पर चर्चा हुई. साथ ही अगर सूत्रों की मानें तो ट्रस्ट में नए संरक्षक की भूमिका जल्द ही तय की जा सकती है. संरक्षक के तौर पर भैयाजी जोशी का नाम चल रहा है. हालांकि, अभी तक इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. लेकिन, सूत्रों की मानें तो आरोप-प्रत्यारोप लगने के बाद अब भैयाजी जोशी को ट्रस्ट में केयर टेकर की जिम्मेदारी दिए जाने के कयास लगाए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें:  

गाजीपुर बॉर्डर पर बीजेपी कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच जमकर मारपीट, गाड़ियों में भी हुई तोड़फोड़

 

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*