कोविड 19 प्रोटोकॉल ने बढ़ाई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की परेशानी

कोरोना वायरस की वजह से ऑस्ट्रेलिया में बेहद कड़े प्रोटोकॉल लागू हैं. इन प्रोटोकॉल की वजह से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स की मुश्किलें काफी बढ़ चुकी है. प्रोटोकॉल के तहत ही दिग्गज ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के टेस्ट मैच तक मिस करने की नौबत आ सकती है. टी20 वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने वाले कई खिलाड़ियों को अफगानिस्तान के खिलाफ खेले जाने वाले टेस्ट मैच से बाहर रहना पड़ सकता है. 

ऑस्ट्रेलियाई टीम अगर टी 20 विश्व कप के फाइनल में पहुंचती है तो वह स्वदेश पहुंचने पर क्वारंटीन में रहेगी. क्वारंटीन पीरियड की वजह से जो खिलाड़ी टी20 वर्ल्ड कप का हिस्सा होंगे उन्हें घरेलू टेस्ट से बाहर रहना पड़ेगा. ऑस्ट्रेलिया को अफगानिस्तान के खिलाफ 27 नवंबर से एकमात्र टेस्ट खेलना है और टी20 विश्वकप का आयोजन 17 अक्टूबर से 14 नवंबर तक यूएई में होना है.

ऐसे में टी 20 विश्व कप और पहला टेस्ट शुरू होने में 13 दिनों का अंतराल होगा. अगर ऑस्ट्रेलिया टी 20 विश्व कप के फाइनल में पहुंचने में सफल रहता है तो पैट कमिंस, स्टीवन स्मिथ, डेविड वार्नर और मिशेल स्टार्क जैसे उसके शीर्ष खिलाड़ियों को 14 दिनों तक क्वारंटीन में रहना होगा.

बेहद मुश्किल में हैं ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

ऑस्ट्रेलिया को इसके बाद आठ दिसंबर से ब्रिस्बेन में एशेज का पहला मुकाबला खेलना है. ऑस्ट्रेलिया टीम के कुछ शीर्ष खिलाड़ी वेस्टइंडीज और बांग्लादेश के साथ होने वाली सीमित ओवरों की सीरीज से हट गए हैं.

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को सख्त नियम लागू होने की वजह से लंबे समय तक अपने परिवार से दूर रहना पड़ रहा है. मैक्सवेल, वार्नर, कमिंस और स्टोइनिस जैसे खिलाड़ियों ने साफ किया है कि वह परिवार के साथ वक्त बिताने के लिए वेस्टइंडीज और बांग्लादेश दौरे पर नहीं जाना चाहते.

इससे पहले आईपीएल में हिस्सा लेने वाले 18 ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को भी करीब एक महीने तक क्वारंटीन रहना पड़ा. ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भारत से यात्रा प्रतिबंध के चलते पहले मालदीव गए और फिर वहां 15 दिन गुजारने के बाद ऑस्ट्रेलिया पहुंचे.

वेस्टइंडीज ने दो बार जीता है टी20 वर्ल्ड कप, यहां देखें खिताब जीतने वाली सभी टीमों की लिस्ट

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*