Caste Census: जातिगत जनगणना को लेकर क्या कुछ बोले असदुद्दीन ओवैसी?

Asaduddin Owaisi On Caste Census: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि जातिगत जनगणना को लागू करना पिछड़े वर्ग के उत्थान के लिए बेहद ज़रूरी है. आज जातिगत जनगणना कराए जाने की मांग को लेकर बिहार के सीएम नीतीश कुमार की अगुवाई में कई नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की. बिहार के नेताओं के प्रतिनिधिमंडल में ओवैसी की पार्टी के नेता अख्तरुल ईमान भी शामिल थे.  

ओवैसी ने जातिगत जनगणना कराए जाने की वकालत करते हुए कहा कि जातिगत जनगणना होनी चाहिए. मोदी जी के पास संसदीय शक्ति है, उन्हें कानून बनाना चाहिए. उन्होंने कहा कि ओबीसी का उप-वर्गीकरण भी ज़रूरी है.

पीएम मोदी से इन नेताओं ने की मुलाकात

नीतीश कुमार- मुख्यमंत्री

तेजस्वी यादव- नेता प्रतिपक्ष,राजद

विजय कुमार चौधरी – जद यू

जनक राम- बीजेपी

अजीत शर्मा- कांग्रेस

महबूब आलम- भाकपा माले

अख्तरुल ईमान- एआईएमआईंएम

जीतन राम मांझी- हम

मुकेश सहनी – वीआईपी

सूर्यकांत पासवान- भाकपा

अजय कुमार- माकपा 

मुलाकात के बाद क्या बोले नीतीश कुमार?

प्रतिनिधिमंडल के साथ पीएम मोदी से मुलाकात के बाद सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री ने सभी बातों को गंभीरता से सुना. काफी सकारात्मक बातचीत हुई. उन्होंने कहा कि अब हमें उनके निर्णय का इंतजार है. 

नीतीश कुमार ने कहा, “सभी लोगों ने एक साथ जातीय गनगणना की मांग की. पीएम मोदी ने हम सभी की बात ध्यान से सुनी. हमने पीएम से इस पर उचित निर्णय लेने का आग्रह किया. हमने उन्हें बताया कि कैसे जाति जनगणना पर राज्य विधानसभा में दो बार प्रस्ताव पारित किया गया है. पीएम मोदी ने हमारी बात खारिज नहीं की. उम्मीद है कि पीएम हमारी बात पर गौर करेंगे.”

अफगानिस्तान पर पीएम मोदी ने सवर्दलीय बैठक बुलाए जाने का दिया निर्देश, विपक्ष को दी जाएगी जानकारी

इंदौर: चूड़ी बेचने वाले मुस्लिम युवक के साथ मारपीट मामले में 2 लोग गिरफ्तार, गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज

Source link ABP Hindi