Cold Weather: झारखंड में फिर बढ़ेगा शीतलहर का प्रकोप, जानें- नए साल में कैसा रहेगा मौसम का हाल

Jharkhand Weather Update News: झारखंड (Jharkhand) में ठंड  से थोड़ी राहत मिलने के बाद अगले कुछ दिन में ठिठुरन और शीतलहर (Cold Wave) एक बार फिर लोगों के लिए परेशानी का सबब बन सकती है. मौसम विभाग (Weather Department) के पूर्वानुमान के मुताबिक, नए साल पर प्रदेश में तापमान गिर सकता है. इस बीच कुछ इलाकों में बादल छाए रहने और 28 से 30 दिसंबर के बीच बारिश (Rain) की संभावना भी जताई गई है. बारिश के बाद सूबे में सर्दी बढ़ेगी साथ ही कोहरा (Fog) भी लोगों को परेशान कर सकता है.

पश्चिमी विक्षोभ का दिखेगा प्रभाव 
मौसम वैज्ञानिकों (Weather Scientists) का कहना है कि, ‘अगले 3 से 4 दिनों में झारखंड में शीतलहर का दूसरा दौर देखने को मिलेगा.’ मौसम विभाग की तरफ से कहा गया है कि, 29 दिसंबर को बारिश होने की सबसे अधिक संभावना है. साल के अंतिम दिनों में झारखंड में पश्चिमी विक्षोभ (Western Disturbance) का प्रभाव भी देखने को मिलेगा और इस बीच बारिश की वजह से प्रदेश में सर्दी और गलन बढ़ा सकती है.

कब होती है गंभीर शीतलहर
गौरतलब है कि, जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से कम या उसके बराबर हो और अधिकतम तापमान सामान्य से कम से कम 4.5 डिग्री सेल्सियस कम हो, तो इसे ठंडा दिन कहा जाता है. न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे कम होने और सामान्य से 4.5 डिग्री कम होने पर भी शीतलहर घोषित की जाती है. वहीं, गंभीर शीतलहर तब होती है जब न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस तक हो जाता है या यह सामान्य से 6.4 डिग्री सेल्सियस से भी अधिक नीचे होता है.

नए साल पर रहेगी ठंड 
मौसम विभाग के मुकाबिक, आने वाले दिनों में अधिकतम तापमान में 4 से 5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट देखने को मिल सकती है. मौसम विभाग के इन पुर्वानुमानों के आधार पर कहा जा सकता है कि प्रदेश के लोगों को फिलहाल शीतलहर और कोहरे की मार अभी कुछ दिन और झेलनी पड़ सकती है. मौसम की इसी स्तिथि का सामना प्रदेश को नए साल के मौके पर भी करना होगा.

ये भी पढ़ें:

Jharkhand: कोरोना वैक्सीन को लेकर सीओ कर रहे थे जागरूक, भड़के शख्स ने लाठी-डंडे से पीटा, तोड़ दिया हाथ 

Jharkhand Government Scheme: हेमंत सरकार शुरू कर सकती है ये बड़ी योजना, छात्रों के होगा लाभ

Source link ABP Hindi