Gorakhpur: गोरखपुर में बाढ़ से हाहाकार, सैकड़ों गांवों में घुसा पानी, लाखों लोग हुए प्रभावित

Flood in Gorakhpur: यूपी के गोरखपुर (Gorakhpur) जिले में भारी बारिश (Heavy Rain) के चलते राप्ती और रोहिन नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. साथ ही घाघरा (सरयू) भी उफान पर है. जिसके चलते शहर उत्तरी, पश्चिमी और दक्षिणी छोर के ग्रामीण इलाके बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं. लाखों लोगों पर बाढ़ का असर देखा जा रहा है. सैकड़ों गांव इससे प्रभावित हुए हैं. कई इलाकों में राहत और बचाव का काम भी किया जा रहा है. 

चौरीचौरा तहसील के ब्रह्मपुर ब्‍लॉक के मटियरा गांव में हालात बद से बदतर हो गई है. राप्‍ती के साथ सहयोगी नदी गुर्रा भी कहर बरपा रही है. ग्रामीण खुद की और जानवरों की जान बचाने के लिए सुरक्षित स्थानों पर निकल रहे हैं. ग्रामीण भिखारी यादव बताते हैं कि बाढ़ का पानी तेजी से बढ़ रहा है. नदी भी उफान पर है जिससे काफी डर लग रहा है.

गोरखपुर के जिला आपदा विशेषज्ञ गौतम गुप्‍ता बताते हैं कि नदियां लगातार बढ़ रही हैं. उन्‍होंने बताया कि पहाड़ी इलाकों से पानी आने की वजह से नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. तटबंधों पर दबाव के ब‍ीच कुछ जगह पर रिसाव की भी जानकारी मिली है. उन्‍होंने बताया कि संबंधित खंड के माध्‍यम से लगातार निगरानी और मरम्‍मत कराई जा रही है. सभी तहसीलों से रिपोर्ट भी ली गई है. सभी बांध सुरक्षित हैं. रोहिन नदी के बेल्‍ट पर रिसाव की सूचना आ रही है. राहत और बचाव कार्य चलाया जा रहा है.

राहत और बचाव कार्य जारी
उन्होंने आगे बताया कि 179 गांव बाढ़ से घिरे हुए हैं. बाढ़ के कारण 1,88,180 जनसंख्‍या प्रभावित है. साथ ही 27,640 हेक्‍टेयर क्षेत्रफल प्रभावित है. इससे इसमें सदर के 122, कैंपियरगंज में 13, सहजनवां में 17, चौरीचौरा में 18, गोला में 51, बांसगांव में 18, खजनी में 19 गांव बाढ़ से घिर गए हैं. रोहिन, राप्‍ती, घाघरा (सरयू), आमी और गोर्रा नदी की बाढ़ से घिरे गांव में छोटी-बड़ी कुल 321 नाव राहत के लिए उपलब्‍ध है, जिसमें 272 नाव को लगाया गया है. इसमें सर्वाधिक सदर में 122, सहजनवां में 17, कैंपियरगंज में 27, गोला में 51, बांसगांव में 18, चौरीचौरा में 18 और खजनी में 19 नाव लगी है.

उन्होंने बताया कि लोगों के इलाज के लिए 200 टीमों को लगाया गया है. अब तक 8,701 लोगों का उपचार हुआ है. क्लोरीन की 93,723 गोलियां उपलब्‍ध कराई गई हैं. कुल 15,599 ओआरएस पैकेट बांटे जा चुके हैं. इसके अलावा कुल 12,148 राशन किट का वितरण किया गया है. सदर में 500, सहजनवां 500, कैम्पियरगंज 250, गोला 250, मुख्‍यालय पर 1 हजार राशन किट उपलब्‍ध कराया गया है. इतनी ही संख्‍या में तारपोलीन और जेरीकेन भी उपलब्‍ध कराया गया है. एनडीआरएफ और आरआरसी की दो यूनिट और एसडीआरएफ की एक यूनिट को तैनात किया गया है.

ये भी पढ़ें:

Dengue Death: डेंगू का कोहराम, एक हफ्ते में 32 बच्चों की मौत, 6 सितंबर तक स्कूल बंद

Etawah: पुलिसकर्मियों के साथ पिटाई का मामला, वीडियो सामने आने के बाद बैकफुट पर बीजेपी सांसद

Source link ABP Hindi