Greater Noida Authority ने 3 उद्यमियों पर लगाया 93 हजार का जुर्माना, जानें- वजह

Greater Noida Authority: कूड़े का निस्तारण ना करने पर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण (Greater Noida Authority) ने तीन उद्यमियों (Entrepreneurs) पर 93000 रुपये का जुर्माना लगाया है. प्राधिकरण के स्वास्थ्य विभाग (Health Department) और सहयोगी संस्था फीडबैक फाउंडेशन (Feedback Foundation) की टीम ने मौके पर निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान खामी मिलने पर ये जुर्माना (Fine) लगाया गया है.  

गंदगी फैलाने वालों पर हो रही है कार्रवाई
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण के निर्देश पर ग्रेटर नोएडा को स्वच्छ बनाने का अभियान चल रहा है. प्राधिकरण की टीम लोगों को जागरूक करने के साथ ही गंदगी फैलाने वालों पर कार्रवाई भी कर रही है. इसी कड़ी में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के जन स्वास्थ्य विभाग और फीडबैक फाउंडेशन संस्था की टीम शनिवार को ग्रेटर नोएडा के इकोटेक 2 स्थित उद्योग विहार पहुंची.

इन पर लगाया गया जुर्माना
यहां कूड़े का सही तरीके से निस्तारण ना होने पर मोबेस इंडिया प्रा. लिमिटेड पर 51 हजार रुपये और ई-पैक प्रा. लिमिटेड व स्प्रे प्लास्ट लिमिटेड कंपनी पर 21-21 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. इस पूरी कार्रवाई में प्राधिकरण के स्वास्थ्य विभाग के सहायक प्रबंधक वैभव नागर निरीक्षक मोहम्मद सिबतैन और फीडबैक फाउंडेशन टीम शामिल रही.  

इनर्ट कूड़े को ही उठाएगा प्राधिकरण
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने ठोस अपशिष्ट प्रबंधन नियम 2016 लागू कर दिया है. इसके तहत बल्क वेस्ट जरनेटर को अपने कूड़े का निस्तारण खुद करना होगा. निस्तारण के बाद बचा हुआ 7 से 10 प्रतिशत इनर्ट कूड़े को शुल्क राशि जमा करने पर ही प्राधिकरण उठाएगा. ऐसा ना करने पर बड़े पैमाने पर कूड़ा उत्पन्न करने वालों पर करवाई की जाएगी. सीईओ नरेंद्र भूषण ने शहर को साफ-सुथरा बनाने के लिए सभी ग्रेटर नोएडा वासियों से कूड़े का उचित प्रबंधन करने की अपील की है.

ये भी पढ़ें:  

Government Inter College: खंडहर में तब्दील हुई 5 करोड़ की लागत से बनी बिल्डिंग, सीएम योगी ने किया था उद्घाटन

Meerut Murder: बीती रात लापता हुए 2 बच्चों की निर्मम हत्या, परिवार में मचा कोहराम

Source link ABP Hindi