Muhurat For Raksha Bandhan 2021 Aaj Ka Panchang Raksha Bandhan Muhurat Time To Tie Rakhi Is Til

Shubh Muhurat Of Raksha Bandhan 2021: आज रक्षा बंधन का पर्व है. पूरे भारत मे रक्षा बंधन का पर्व मनाया जा रहा है. रक्षा बंधन का पर्व भाई और बहनों को समर्पित है. राखी के त्यौहार पर बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधती हैं.  वहीं भाई इस दिन बहनों को उपहार आदि भेंट करते हैं. रक्षा बंधन का पर्व अत्यंत पवित्र पर्व माना गया है. 

रक्षा बंधन पर शुभ मुहूर्त का विशेष महत्व बताया गया है. मान्यता है कि रक्षा बंधन का पर्व शुभ मुहूर्त में ही मनाया जाना चाहिए तभी इस पर्व का पुण्य प्राप्त होता है. पंचांग के अनुसार रक्षा बंधन पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त कब से कब तक बना हुआ है, जानते हैं-

पंचांग के अनुसार 22 अगस्त 2021, रविवार को श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि है. आज का नक्षत्र धनिष्ठ है, और चंद्रमा कुंभ राशि में गुरु के साथ गजकेसरी योग का निर्माण कर रहा है. ज्योतिष शास्त्र में गजकेसरी योग को बहुत ही शुभ फल देने वाला योग माना गया है. 

रक्षा बंधन पर इस भद्रा नहीं है
रक्षा बंधन पर भद्र काल का विशेष ध्यान रखा जाता है. रक्षा बंधन पर इस बार भद्रा नहीं है. भद्रकाल पंचांग के अनुसार 23 अगस्त 2021 को करीब  प्रात: 05 बजकर 34 मिनट से 06 बजकर 15 मिनट तक रहेगा.

राखी बांधन का शुभ मुहूर्त- 22 अगस्त, पंचांग (Raksha Bandhan 2021 Shubh Muhurat Time)

  • रक्षा बन्धन का पर्व-  22 अगस्त 2021, रविवार को
  • रक्षा बन्धन अनुष्ठान का समय- 06:15 ए एम से 05:31 पी एम
  • अवधि – 11 घण्टे 16 मिनट्स
  • रक्षा बन्धन के लिये अपराह्न का मुहूर्त – 01:42 पी एम से 04:18 पी एम
  • अवधि- 02 घण्टे 36 मिनट्स
  • रक्षा बन्धन भद्रा अन्त समय- 06:15 ए एम (22 अगस्त 2021)
  • रक्षा बन्धन भद्रा पूँछ – 02:19 ए एम से 03:27 ए एम
  • रक्षा बन्धन भद्रा मुख – 03:27 ए एम से 05:19 ए एम

पूर्णिमा तिथि का प्रारम्भ- 21 अगस्त 2021 को 07: 00 पी एम
पूर्णिमा तिथि का समापन- 22 अगस्त 2021, को 05:31 पी एम

यह भी पढ़ें:
Monthly Horoscope Bhadrapada 2021: मेष, सिंह और तुला राशि वालों के साथ इन सभी राशियों को धन के मामले में देना होगा विशेष ध्यान, जानें राशिफल

Aaj Ka Panchang: 22 अगस्त को रक्षाबंधन पर राहु काल का रखें ध्यान, जानें राखी का शुभ मुहूर्त

Raksha Bandhan 2021: खुशखबरी! मकर राशि में रक्षाबंंधन पर समाप्त हो रहा है ‘विष’ योग, कुंभ राशि में बनेगा ‘गजकेसरी’ योग

Source link ABP Hindi