NEET 2021 एग्जाम के लास्ट के 15 दिनों की तैयारी में इन Tips को करें फॉलो, शानदार स्कोर करेंगे

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने NEET UG 2021 की परीक्षा की तारीख घोषित कर दी है. इस साल NEET UG 2021 की परीक्षा 12 सितंबर को आयोजित की जाएगी. यानी परीक्षा में अब मुश्किल से 15 दिन का समय बचा है.मेडिकल फील्ड में जाने के इच्छुक छात्र इस परीक्षा में अच्छे स्कोरिग के लिए जी तोड़ मेहनत भी कर रहे हैं. लेकिन इस साल प्रवेश परीक्षा में काफी कुछ बदलाव किया गया है जिसे लेकर उम्मीदार तनाव में भी है. NEET UG 2021 की परीक्षा देने जा रहे कैंडिडेट्स की टेंशन को दूर करने के लिए हम यहां लास्ट के दिनों की तैयारी के कुछ टिप्स दे रहे हैं जो एग्जाम क्रैक करने में उनकी काफी मदद करेंगे.

NEET UG 2021  एग्जाम पैटर्न
ये तो अब उम्मीदवारों को अच्छी तरह पता है कि इस वर्ष की परीक्षा के लिए NTA के रिवाइज्ड एग्जाम के पेन और पेपर (ऑफ़लाइन) मोड में 4 सेक्शन (फिजिक्स कैमेस्ट्री, बॉटनी और जूलॉजी) शामिल होंगे. प्रत्येक विषय में 2 सेक्शन ए और बी शामिल होंगे, जिसमें सेक्शन ए में 35 प्रश्नों को अटैम्पट करना होगा, सभी विषयों में सेक्शन बी में से किसी भी 10 प्रश्नों को हल करने का ऑप्शन मिलेगा. परीक्षा तीन घंटे की अवधि के लिए होगी.
चलिए यहां जानते हैं NEET UG 2021 में बेस्ट स्कोरिंग के लिए लास्ट के 15 दिनों में क्या स्ट्रैटजी और Tips फॉलो किए जा सकते हैं.

रिविजन पर पूरा फोकस करें
लगातार रिविजन एग्जाम को क्रैक करने की सबसे बड़ी ट्रिक है. परफॉर्मेंस को तय करने में रिविजन एक खास रोल प्ले करता है. इसलिए यह सलाह दी जाती है कि उम्मीदवारों को उन सभी टॉपिक्स और चैप्टर्स को रिवाइज करना चाहिए जिन्हें वे पहले पढ़ चुके है ताकि उन्हें लंबे समय तक याद रखा जा सके. सभी सब्जेक्ट्स की वीकली रिविजन कॉन्सेप्ट क्लियरिटी को बढ़ाता है, जिससे उन्हें बेहतर परफॉर्म करने और बेस्ट रैंकिंग में मदद मिलती है.

एक्यूरेसी पर ध्यान दें
रेग्यूलर मॉक टेस्ट लेने से निर्धारित समय अवधि के भीतर सभी सेक्शन को अच्छी तरह से पूरा करने में मदद मिलेगी. टॉपिक्स को रिवाइज करने के बाद, उम्मीदवारों को अपनी स्पीड में सुधार करने के लिए ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट देने चाहिए. ये उम्मीदवारों की एक्यूरेसी भी बढ़ाता है और उन्हें एग्जाम पैटर्न को समझने में भी मदद करता है.

फिजिक्स सेक्शन में बेस्ट स्कोरिंग के लिए NCERT टेस्टबुक्स रेफर करें
मैथमैटिकल प्रॉब्लम्स और थियोरिटिकल प्रश्नों की एक डिटेल्ड रेंज होने के कारण, फिजिक्स अभी भी कई NEET उम्मीदवारों के लिए एक बुरा सपना है और उन्हें इस सेक्शन को क्लियर करना मुश्किल लगता है. अपनी तैयारी को मजबूत करने के लिए उम्मीदवारों को एनसीईआरटी की टेस्टबुक्स को कवर करना चाहिए. बेस्ट और सिंपल स्टडी मैटिरियल चुनने से कॉन्सेप्ट्स को स्ट्रांग करने में मदद करता है. ज्यादा बुक्स रेफर करने की बजा NCERT की टेस्टबुक्स हमेशा से फर्स्ट प्रायोरिटी रही हैं
चूंकि फिजिक्स सेक्शन में मैथमैटिक्स और न्यूमरिकल प्रश्न शामिल हैं, इसलिए सबसे बेस्ट ट्रिक ये है कि नियमित रूप से शॉर्ट-हैंडेड नोट्स बनाकर फॉर्मूले सीखें.  यह कम समय में कॉन्सेप्ट-बेस्ड प्रश्नों के अटैम्पट करने में उम्मीदवारों की मदद करेगा.

अपनी किसी भी कंफ्यूजन को क्लियर करें
उम्मीदवारों को उन सभी क्षेत्रों पर फोकस करना चाहिए जहां उन्हें कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है और कंफ्यूजन है. ये सलाह दी जाती है कि छात्रों को अपनी किसी भी तरह की कंफ्यूजन को जल्द से जल्द क्लियर करने के लिए इन विषयों के एक्पर्ट्स से मदद लेनी चाहिए. वहीं अगर वे किसी ऐसे शख्स से मदद लेते हैं जिसे विषय के बारे में सही जानकारी नहीं है, तो उन्हें गलत जानकारी दी जा सकती है या भ्रमित किया जा सकता है.

लास्ट ईयर के प्रश्न पत्र और सैंपल पेपर्स को सॉल्व करें
NEET 2021 की तैयारी के लिए केवल 15 दिन बचे हैं ऐसे में उम्मीदवारों को लास्ट ईयर के प्रश्न पत्रों और सैंपल पेपर्स को सॉल्व जरूर करना चाहिए. पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों को सॉल्व करने से उन्हें NEET एग्जाम की कठिनाई लेवल और प्रश्न पत्र पैटर्न का भी अंदाजा हो जाता है. इसके अलावा, यह उम्मीदवारों को सब्जेक्टवाइज उनके वीक और स्ट्रांग एरिया को पहचानने में भी मदद करता है.

सभी विषयों को कवर करने के लिए टाइमटेबल फॉलो करें
मेडिकल उम्मीदवारों को नीट 2021 की तैयारी करते समय अपने लिए एक टाइम टेबल बनाना चाहिए. यह उन्हें उनकी तैयारी की शुरुआत से ही सलाह दी जाती है क्योंकि यह सिस्टमैटिक और ओवरऑल प्रोग्रेस में मदद करता है. हालांकि, अगर उन्होंने अभी तक ऐसा नहीं किया है, तो देर हो चुकी है, कभी नहीं से बेहतर है, अगर पहले बनाया गया है, तो उस टाइमटेबल को फ्रेशन करें.  उम्मीदवारों को एक ऐसा टाइम टेबल बनाना चाहिए जो उन्हें सभी महत्वपूर्ण विषयों को कवर करने के लिए पर्याप्त समय दे.

अपनी हेल्थ का ध्यान जरूर रखें
सारे टिप्स के अलावा अपनी हेल्थ का भी ध्यान रखें. दरअसल ज्यादातर छात्र अपने सपनों के करियर की तैयारी करते समय अपने सोने के समय और स्वस्थ भोजन से समझौता करते हैं, वहीं एक्स्पर्ट्स भी कहते हैं कि हेल्दी खाना और अच्छी नींद लेने से छात्रो की ओवरऑल परफॉर्मेंस में काफी सुधार हो सकता है. छात्रों को बीमार नहीं पड़ना चाहिए, खासकर जब परीक्षा नजदीक हो. उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उन्हें अच्छी नींद मिले, घर का बना खाना खाएं, पॉजिटिव रहें और व्यायाम करें. ये उन्हें फ्रेश रखेगा और उन्हें अच्छा स्कोर करने में भी मदद करेगा.

 ये भी पढ़ें

JEE Main Session 4 Exam 2021: JEE मेन 2021 सेशन 4 की परीक्षा आज से शुरू, यहां जानें जरूरी प्वाइंट्स

AKTU Result 2021: एकेटीयू ने MCA, MBA और BHMCT का फाइनल ईयर का रिजल्ट जारी किया, ऐसे करें चेक

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Source link ABP Hindi