Shani Dev : शनि देव के प्रिय दिन से शुरू हो रही है नए साल की शुरुआत

साल 2022 की शुरूआत शुभ तिथि से हो रही है. पंचांग के अनुसार साल का आरंभ त्रयोदशी की तिथि से हो रही है. इस दिन प्रात: 7 बजकर 19 मिनट तक पौष मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी की तिथि रहेगी इसके बाद चतुर्दशी की तिथि शुरू होगी. नए साल पर ज्येष्ठा नक्षत्र रहेगा और चंद्रमा वृश्चिक राशि में गोचर करेगा. शनि देव देव के भक्तों के लिए नए साल का पहला दिन विशेष है. क्योंकि इस दिन शनिवार का दिन है. इसके साथ ही मासिक शिवरात्रि का व्रत भी है.

शनिवार का दिन शनि देव का प्रिय दिन माना गया है. शनि देव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार का दिन सबसे उत्तम माना गया है. इस दिन पूजा करने से शनि देव प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों को आशीर्वाद प्रदान करते हैं. 1 जनवरी 2022 का दिन इन 5 राशि वालों के महत्वपूर्ण है.

सोढ़ साती और शनि की ढैय्या इन राशियों पर है
ज्योतिष गणना के अनुसार धनु, मकर और कुंभ राशि पर शनि की साढ़े साती और मिथुन और तुला राशि पर शनि की ढैय्या चल रही है. 

शनि के उपाय
मान्यता है कि शनि देव जब अशुभ फल देते हैं तो व्यक्ति का जीवन परेशानियों से भर देते हैं. धन की हानि होती है. जमा पूंजी नष्ट हो जाती है. गंभीर रोग घेर लेता है. जॉब और बिजनेस में बाधाएं आने लगती है. शिक्षा और करियर में रूकावटें आती है. दांपत्य जीवन में तनाव और कलह भर देते हैं. इसके साथ ही अन्य समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है. इसलिए शनि देव को शांत रखना बहुत ही जरूरी बताया गया है. शनिवार को इन उपायों को करने से शनि देव शांत होते हैं-

  • शनि मंदिर में शनि देव को सरसों का तेल चढ़ाएं.
  • कुष्ट रोगियों की सेवा करें, दवाओं का वितरण करें.
  • परिश्रम करने वाले लोगों का सम्मान करें.
  • काला कंबल का दान करें.
  • जरूरतमंद लोगों को मोटा अनाज दान करें.
  • पीपल के पेड को जल चढ़ाएं.
  • शनि चालीसा और शनि के इस मंत्र का जाप करें-
    ”ऊं शं शनैश्चराय नमः”

यह भी पढ़ें:
Eclipse : 2022 में कब- कब लग रहा है ‘सूर्य ग्रहण’ और ‘चंद्र ग्रहण’ यहां देखें पूरी लिस्ट

January 2022 : साल का पहला महीना धार्मिक दृष्टि से है महत्वपूर्ण जानें कब है मकर संक्रांति, दुर्गाष्टमी, लोहड़ी और वैकुंठ एकादशी व्रत

Source link ABP Hindi