West Bengal Bypolls: ममता बनर्जी की EC से मांग- पश्चिम बंगाल में उपचुनाव की घोषणा करे

West Bengal Bypolls: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने दावा किया कि राज्य में कोरोना की स्थिति अब पूरी तरह से कंट्रोल में है. ऐसे में उन्होंने मांग की कि चुनाव आयोग को उपचुनाव का एलान करना चाहिए. उन्होंने कहा कि लोगों को वोट डालने और विधानसभा के लिए चुने जाने का अधिकार है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा, “पश्चिम बंगाल में कोविड-19 की स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है. लोगों को वोट डालने और विधानसभा के लिए चुने जाने का अधिकार है. चुनाव आयोग को उपचुनावों की घोषणा करनी चाहिए क्योंकि हमें लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों में कटौती नहीं करनी चाहिए.”

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी को बीजेपी के उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए विधानसभा उप-चुनाव का रास्ता खाली करते हुए राज्य की सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस नेता शोभन देव ने विधायक पद से इस्तीफा दे चुके हैं. वह भवानीपुर विधानसभा सीट से जीतकर विधानसभा पहुंचे थे.

यह विधानसभा सीट मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पारंपरिक सीट रही है. लेकिन जब सीएम ममता बनर्जी ने विधानसभा चुनाव में शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ नंदीग्राम सीट से लड़ने के लिए चली गई थीं तो यहां से शोभन देव को टीएमसी टिकट पर उतारा गया था.

26 अगस्त को सर्वदलीय बैठक में शामिल होगी टीएमसी

इसके साथ ही ममता बनर्जी ने कहा कि टीएमसी 26 अगस्त को अफगानिस्तान में मौजूदा स्थिति पर विदेश मंत्रालय की ब्रीफिंग में भाग लेगी. बता दें कि विदेश मंत्री एस जयशंकर 26 अगस्त को संसद में विभिन्न दलों के नेताओं को अफगानिस्तान के घटनाक्रम से अवगत कराएंगे. संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि ये बैठक सुबह 11 बजे संसद भवन एनेक्सी में होगी.

प्रह्लाद जोशी ने ट्वीट किया, ‘‘संसद में विभिन्न दलों के नेताओं को विदेश मंत्री डा. एस जयशंकर द्वारा अफगानिस्तान की वर्तमान स्थिति के बारे में 26 अगस्त, पूर्वान्ह्र 11 बजे मुख्य समिति कक्ष, पीएचए, नई दिल्ली में जानकारी दी जाएगी. ईमेल के जरिए आमंत्रण भेजे जा रहे हैं. सभी संबंधित लोगों से उपस्थित होने का अनुरोध किया जाता है.’’

Caste Census: जातिगत जनगणना को लेकर क्या कुछ बोले असदुद्दीन ओवैसी?

Caste Census: जातिगत जनगणना को लेकर नीतीश कुमार और पीएम मोदी की मुलाकात के क्या हैं मायने?

Source link ABP Hindi